पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

चिन्मयानंद पर कार्रवाई नहीं करेगा अखाड़ा परिषद, कहा- उनके साथ अन्याय हुआ, हर मोड़ पर साथ देंगे

10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चिन्मयानंद इस समय शाहजहांपुर जेल में बंद है।- फाइल
  • इससे पहले अखाड़ा परिषद ने चिन्मयानंद के कृत्य का बताया था अक्षम्य, कहा था- संत समाज से निष्कासन करेंगे
  • अब अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष ने कहा- उन्हें कानूनी सहायता कराएंगे मुहैया

प्रयागराज. अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद अब यौन शोषण मामले में गिरफ्तार पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद के साथ खड़ा हो गया है। मामले में परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि स्वामी चिन्मयानंद के साथ अन्याय हुआ है। अखाड़ा परिषद स्वामी चिन्मयानंद का हर तरह से साथ देगा। कुछ दिनों पहले अखाड़ा परिषद ने चिन्मयानंद को संत समाज से बाहर करने का प्रस्ताव रखा था।
 

संतों को बदनाम करने की साजिश
महंत गिरी ने कहा कि चिन्मयानंद मामले की आड़ में साधु-संतों को बदनाम करने और उनकी छवि को बिगाड़ने की बड़ी साजिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि मामले में आरोप लगाने वाली लड़की की भूमिका भी संदिग्ध है। ऐसा प्रतीत हो रहा है कि नशीली दवा खिलाकर स्वामी चिन्मयानंद को फंसाने की साजिश की गई है।
 

चिन्मयानंद के निष्कासन की कार्रवाई नहीं होगी
महंत गिरि ने कहा कि पीड़िता और उसके साथियों का वीडियो सामने आने के बाद ये पूरी तरह से साफ हो गया है कि चिन्मयानंद से रंगदारी मांगी गई है। गिरि ने ऐलान किया है कि अब अखाड़ा परिषद की 10 अक्टूबर को हरिद्वार में होने वाली बैठक में चिन्मयानंद के निष्कासन की कार्रवाई भी नहीं की जाएगी, बल्कि साधु संत उनके साथ इस लड़ाई में उनका पूरा साथ देंगे।
 

चिन्मयानंद के साथ खड़ा रहेगा अखाड़ा परिषद
चिन्मयानंद को अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की ओर से कानूनी सहायता मुहैया कराए जाने के सवाल पर गिरि ने कहा कि वे खुद सक्षम हैं, इसलिए उन्हें इसकी कोई आवश्यकता नहीं है। लेकिन, साधु-संत और अखाड़ा परिषद सामाजिक रूप से चिन्मयानंद की इस लड़ाई में उनके साथ है।
 

अखाड़ा परिषद ने किया था चिन्मयानंद के खिलाफ कार्रवाई का ऐलान
चिन्मयानंद पर लगे आरोपों के बाद साधु-संतों की सर्वोच्च संस्थान अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने भी कार्रवाई करने का ऐलान किया था। परिषद की 10 अक्टूबर को हरिद्वार में होने वाली बैठक में चिन्मयानंद को अखाड़े से बाहर करने का प्रस्ताव सभी 13 अखाड़ों के प्रतिनिधियों की मौजूदगी में पास कराए जाने की बात कही गई थी।
 

क्या हैं चिन्मयानंद पर आरोप?
शाहजहांपुर में लॉ कॉलेज की छात्रा ने चिन्मयानंद पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है। पिछले दिनों कुछ वीडियो भी वायरल हुए थे, जिसमें चिन्मयानंद एक युवती से मालिश करवाते हुए नजर आए थे। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर मामले की जांच एसआईटी कर रही है। जांच के दौरान एसआईटी ने चिन्मयानंद को गिरफ्तार कर लिया था। अदालत ने उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया था।
 

रंगदारी मामले में पीड़ित छात्रा की वीडियो कांफ्रेंसिंग से हुई पेशी
चिन्मयानन्द से 5 करोड़ की रंगदारी मांगने के आरोप में पीड़ित छात्रा और उसके 3 दोस्त जेल में बंद हैं। सोमवार को छात्रा की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पेशी हुई। पेशी की अगली तारीख 14 अक्टूबर को तय की गई है। छात्रा ने चिन्मयानंद पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था।
 

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। वैसे भी आज आपको हर काम में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। इसलिए पूरी मेहनत से अपने कार्य को संपन्न करें। सामाजिक गतिविधियों में भी आप...

और पढ़ें