सीएए / छात्र ने याचिका दायर करके प्रदर्शन की अनुमति मांगी, हाईकोर्ट ने खारिज करते हुए कहा- ये राष्ट्रहित में नहीं

इलाहाबाद हाईकोर्ट (प्रयागराज) इलाहाबाद हाईकोर्ट (प्रयागराज)
X
इलाहाबाद हाईकोर्ट (प्रयागराज)इलाहाबाद हाईकोर्ट (प्रयागराज)

  • फिरोजाबाद निवासी छात्र मोहम्मद फुरकान की याचिका पर कोर्ट हस्तक्षेप से इनकार किया
  • कोर्ट ने कहा- याची यदि भारतीय नागरिक है तो उसे हर कीमत पर शांति कायम रखनी चाहिए

दैनिक भास्कर

Feb 07, 2020, 03:15 PM IST

प्रयागराज. फिरोजाबाद के छात्र ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय में याचिका दायर करके नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में प्रदर्शन की अनुमति मांगी थी। छात्र का कहना था सीएए के विरोध में प्रशासन प्रदर्शन करने की अनुमति नहीं दे रही है, जो संवैधानिक अधिकारों का हनन है। छात्र की याचिका को कोर्ट ने यह कहकर खारिज कर दिया है कि सीएए के विरोध में प्रदर्शन राष्ट्र के हित में नहीं है

न्यायमूर्ति भारती सप्रू तथा न्यायमूर्ति पीयूष अग्रवाल की खंडपीठ ने कहा है कि यदि याची भारतीय नागरिक है तो हर कीमत पर उसे शांति कायम रखनी चाहिए। कोर्ट ने याचिका पर हस्तक्षेप करने से इंकार करते हुए खारिज कर दिया है।

फिरोजाबाद के एक कॉलेज के छात्रों ने मांगी थी अनुमति
नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में फिरोजाबाद के एक कॉलेज के छात्रों को प्रदर्शन करने की अनुमति की बाबत कोर्ट में याचिका दायर की गई थी। फिरोजाबाद के मोहम्मद फुरकान ने याचिका दायर की थी और उसमें कॉलेज के छात्रों को सीएए के विरोध में प्रदर्शन की अनुमति मांगी थी। याचिका में कहा गया कि कालेज के छात्रों ने सीएए के विरोध प्रदर्शन की अनुमति मांगी है, किन्तु अनुमति नहीं दी जा रही है।
 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना