--Advertisement--

प्रतापगढ़ में विकास की जमीनी हकीकत देखेंगे सीएम योगी, लगाएंगे ग्राम चौपाल; दलित के घर खाएंगे खाना

शाहजहांपुर और लखीमपुर खीरी के औचक निरीक्षण करने करे बाद सोमवार को सीएम प्रतापगढ़ का दौरा करेंगे।

Dainik Bhaskar

Apr 23, 2018, 11:07 AM IST
सीएम योगी ने रविवार को दो जिलों का औचक निरीक्षण किया था। फाइल सीएम योगी ने रविवार को दो जिलों का औचक निरीक्षण किया था। फाइल

प्रतापगढ़. 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए बीजेपी की सियासी जमीन को मजबूत करने में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अभी से जुट गए हैं। सीएम विकास की जमीनी हकीकत को जानने के लिए सीधे लोगों से मिल रहे हैं। शाहजहांपुर और लखीमपुर खीरी के औचक निरीक्षण करने करे बाद सोमवार को सीएम प्रतापगढ़ पहुंचे। सीएम उच्च माध्यमिक विद्यालय कंधई मधुपुर में रात्रि विश्राम करेंगे। वहीं, सीएम के यहां पहुंचते ही सपा कार्यकर्ताओं ने उन्हें काले झंडे दिखाए। सपाइयों ने भाजपा मुर्दाबाद के साथ ही योगी वापस जाओ के जमकर नारे लगाए। सपा कार्यकर्ताओं का कहना है कि जब से भाजपा की सरकार सूबे में बनी तन से यहां का विकास नहीं हुआ है।


दलित के घर भोजन, रात्रि विश्राम

- योगी हेलिकॉप्टर द्वारा 5.45 बजे पुलिस लाइन से तहसील पट्टी कंधई (मधुपुर) के लिए निकलेंगे। वे शाम 6.10 बजे से रात्रि 8.15 बजे तक मंधई मधुपुर के बीडीएमके एजुकेशनल इंस्टीट्यूट के प्रांगण में चौपाल लगाकर गांव के लोगों से बातचीत करेंगे। इसके बाद 8.20 बजे ग्राम खूझा पुरवा कन्धई मधुपुर निवासी दयाराम सरोज के आवास पहुंचे करीब 30 मिनट रुकेंगे। इसके बाद मंधई मधुपुर के उच्च माध्यमिक विद्यालय रात्रि विश्राम करेंगे.
- मंगलवार को योगी आदित्यनाथ सुबह 7.50 बजे से 8 बजे तक उच्च माध्यमिक विद्यालय कन्धई मधुपुर परिसर से स्कूल चलो अभियान का आगाज करेंगे। इसके बाद सुल्तानपुर जिले के लिए प्रस्थान करेंगे।

दलित परिवार के 5 लोग हैं गवर्नमेंट जॉब में

- सीएम योगी दलित दयाराम सरोज के घर में खाना खाएंगे। परिवार में सीएम योगी के साथ कुल 25 अतिरिक्त लोगों के लिए भोजन बनाया जा रहा है। जिस दयाराम के घर भोजन करने सीएम आ रहे हैं उनके घर के 5 लोग सरकारी नौकरी करते हैं और गांव के करोड़पतियों में उनकी गिनती होती है।
- दलित दयाराम के घर सीएम का पसंदीदा खाना बन रहा है। सीएम की पसंदीदा लौकी, भिंडी ,तोरी की सब्ज़ी,अरहर की दाल ,के अलावा खीरे का रायता, चावल रोटी, रसमलाई व छांछ और रसमलाई की व्यवस्था रहेगी। भोजन बनाने के लिए दलित परिवार की सभी महिलाएं सुबह से ही लगी हैं।

मूलभूत सुविधाओं से अछूता है गांव

- सीएम योगी आदित्यनाथ जिस गांव में रात्रि भोजन और विश्राम करंगे वह गांव मूलभूत सुविधाओं से कोसो दूर है। पूरे गांव में सिर्फ 40 शौचालय हैं जो कि जर्जर हालत में हैं। हालांकि मुख्यमंत्री जहां रात्रि विश्राम करेंगे उसके आसपास के एरिया का शौचालय व स्कूल रातों रात सही करा दिया गया है।

गांव में 20 प्रतिशत है दलित आबादी

- जिस गांव में सीएम योगी आदित्यनाथ को रात्रि विश्राम करना है उस गांव में केवल 20 प्रतिशत ही दलित आबादी है। यह गांव मूलतः सवर्ण वोटरों का गढ़ माना जाता है। कैबिनेट मंत्री मोती सिंह की इस गांव में खासी पैठ है। हांलकि यह गांव सदर विधानसभा के अंतर्गत आता है जहां से अपना दल के संगम लाल गुप्ता विधायक हैं।

70 प्रतिशत से अधिक लोग हैं शिक्षित
- गांव में शिक्षा की बात की जाए तो वहां 70 फीसदी से अधिक लोग शिक्षित हैं।जिला मुख्यालय से महज 10 किमी की दूरी पर स्थित इस गांव में काफी लोग सरकारी नौकरी में भी हैं। इसी गांव में सीएम की चौपाल का भी कार्यक्रम रखा गया है।

सीएम ने राजा मंडी में किसानों से मुलाकात की थी।  फाइल सीएम ने राजा मंडी में किसानों से मुलाकात की थी। फाइल
X
सीएम योगी ने रविवार को दो जिलों का औचक निरीक्षण किया था। फाइलसीएम योगी ने रविवार को दो जिलों का औचक निरीक्षण किया था। फाइल
सीएम ने राजा मंडी में किसानों से मुलाकात की थी।  फाइलसीएम ने राजा मंडी में किसानों से मुलाकात की थी। फाइल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..