--Advertisement--

कुंभ  / मकर संक्रांति पर श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी, कल 1.5 करोड़ से अधिक भक्तों के पहुंचने का अनुमान

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 12:56 PM IST


संगम में आस्था की डुबकी लगाते श्रद्धालु। संगम में आस्था की डुबकी लगाते श्रद्धालु।
बनारस में घाटों पर पवित्र स्नान करते लोग। बनारस में घाटों पर पवित्र स्नान करते लोग।
पवित्र स्नान के बाद ध्यान लगाता साधु। पवित्र स्नान के बाद ध्यान लगाता साधु।
स्नान के बाद जल चढ़ाती युवती। स्नान के बाद जल चढ़ाती युवती।
स्नान के लिए बच्चों संग संगम पहुंचा श्रद्धालु। स्नान के लिए बच्चों संग संगम पहुंचा श्रद्धालु।
धर्म ध्वजा के साथ संगम में विचरण करते साधु-संत। धर्म ध्वजा के साथ संगम में विचरण करते साधु-संत।
संगम में तैनात सुरक्षाकर्मी। संगम में तैनात सुरक्षाकर्मी।
संगम में स्नान के बाद ध्यान लगाती युवतियां। संगम में स्नान के बाद ध्यान लगाती युवतियां।
भारी संख्या में संगम पहुंचे श्रद्धालु। भारी संख्या में संगम पहुंचे श्रद्धालु।
X
संगम में आस्था की डुबकी लगाते श्रद्धालु।संगम में आस्था की डुबकी लगाते श्रद्धालु।
बनारस में घाटों पर पवित्र स्नान करते लोग।बनारस में घाटों पर पवित्र स्नान करते लोग।
पवित्र स्नान के बाद ध्यान लगाता साधु।पवित्र स्नान के बाद ध्यान लगाता साधु।
स्नान के बाद जल चढ़ाती युवती।स्नान के बाद जल चढ़ाती युवती।
स्नान के लिए बच्चों संग संगम पहुंचा श्रद्धालु।स्नान के लिए बच्चों संग संगम पहुंचा श्रद्धालु।
धर्म ध्वजा के साथ संगम में विचरण करते साधु-संत।धर्म ध्वजा के साथ संगम में विचरण करते साधु-संत।
संगम में तैनात सुरक्षाकर्मी।संगम में तैनात सुरक्षाकर्मी।
संगम में स्नान के बाद ध्यान लगाती युवतियां।संगम में स्नान के बाद ध्यान लगाती युवतियां।
भारी संख्या में संगम पहुंचे श्रद्धालु।भारी संख्या में संगम पहुंचे श्रद्धालु।

  • प्रयाग में मंगलवार को होगा पहला शाही स्नान
  • वाराणसी में घाटों पर भी लोगों ने किया स्नान

प्रयागराज (इलाहाबाद)/ वाराणसी. कुंभ में मकर संक्रांति का पहला शाही स्नान मंगलवार को है। कई जगहों पर मकर संक्रांति आज भी मनाई जा रही है। सोमवार को प्रयाग में श्रद्धालुओं ने स्नान किया। वाराणसी के गंगा घटों पर भी श्रद्धालुओं की काफी भीड़ देखने को मिली।  

 

कल होगा पहला शाही स्नान : कुंभ में पहला शाही स्नान मकर संक्रांति पर 15 जनवरी को होगा। इसमें देश-दुनिया के कोने-कोने से आए लोग शामिल होंगे। भक्तों को पहली बार पुण्य की डुबकी लगाने के लिए आठ किमी लंबा संगम का किनारा मिलेगा। विश्व भर में इस कुंभ के प्रचार-प्रसार को देखते हुए कुंभ मेला प्रशासन ने पुराणों के आधार पर धर्माचार्यों की मदद से संगम का नया विस्तार कर रविवार को स्नान की तैयारियों को अंतिम रूप दे दिया। 

 

इस बार शिवकुटी से लेकर अरैल में सोमेश्वर महादेव के बीच गंगा के दोनों तटों पर बनाए गए स्नान घाटों पर संगम की डुबकी लगेगी। मेला प्रशासन ने मकर संक्रांति स्नान पर 1.50 करोड़ से अधिक भक्तों के प्रयागराज पहुंचने का अनुमान लगाया है। कड़ी सुरक्षा के बीच श्रद्धालु संगम स्नान कर दुनिया के सबसे बड़े संत-भक्त समागम का हिस्सा बनेंगे। मकर संक्रांति पर फाफामऊ से अरैल के बीच बने स्नान घाटों पर श्रद्धालु डुबकी लगाएंगे।

 

20 सेक्टर में बसे कुंभनगर के 18 सेक्टरों में गंगा के दोनों किनारों पर संगम स्नान के लिए घाट बनाए गए हैं। घाटों पर स्नान के दौरान श्रद्धालु गहरे पानी न जाने पाएं, इसके लिए बैरीकेडिंग कराई गई है। स्नान घाटों पर मजिस्ट्रेट और सीओ की ड्यूटी लगा दी गई है। साथ ही गोताखोरों के दस्ते भी लगातार स्नान घाटों पर तैनात हैं। जल पुलिस मोटरबोट से संगम के लंबे जलमार्ग पर लगातार गश्त कर कर रही है। 

Astrology
Click to listen..