Hindi News »Uttar Pradesh »Allahabad» Lady Minister Cooks Chapati For CM Adityanath Yogi In Pratapgarh

दलित के किचन में रोटी बेलने पहुंच गई ये मंत्री, थोड़ी ही देर में दुख गई कमर

खाने के मेन्यू में थीं 4 तरह की अलग-अलग सब्जियां।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Apr 24, 2018, 01:36 PM IST

    • रोटियां बेलते-बेलते दुखने लगी थी मंत्री स्वाति सिंह की कमर।

      प्रतापगढ़. सीएम योगी आदित्यनाथ सोमवार को प्रतापगढ़ पहुंचे। यहां के मधुपुर गांव निवासी दयाराम सरोज के घर उनके लंच का इंतजाम किया गया। सीएम गांव उसके घर प्रभारी मंत्री स्वाति सिंह, गांव प्रधान मोती सिंह और अन्य सांसद-विधायकों के साथ पहुंचे थे। लंच का टाइम हुआ तो सीएम और अन्य लोग तो भोजन के लिए बैठ गए, लेकिन स्वाति सिंह अंदर किचन में काम कर रही महिलाओं की मदद करने पहुंच गईं। वहां उन्होंने रोटी बनाई और खाना भी परोसा।

      दुखने लगी कमर

      - सीएम के होस्ट बने दयाराम सरोज के किचन में देसी चूल्हे पर रोटियां पक रही थीं। सभी महिलाएं नीचे बैठकर रोटियां बना रही थीं।

      - स्वाति सिंह रोटी बेलने बैठ तो गईं, लेकिन चंद रोटी बेलते ही उनकी कमर दुखने लगी। वो वहां बैठी महिलाओं से बोलीं, "बस... अब और बेला नहीं जा रहा।"

      - उसके बाद उन्होंने लकड़ी वाले चूल्हे पर रोटी सेकने की इच्छा जाहिर की। चूल्हे पर एक बड़ा सा तवा उल्टा रखा गया था और नीचे आग जल रही थी। तवे पर एक बार में 4 से 5 रोटियां सिक रही थीं। उन्हें फुलाने के लिए अंदर आग में डालना था। स्वाती ने यह काम भी किया।

      - थोड़े काम के बाद वो सीएम के साथ लंच करने बैठ गईं।

      सीएम की हर पसंदीदा सब्जी परोसी गई

      - सोमवार को गांव में हुए लंच में सीएम योगी के लिए उनका मनपसंद खाना बनाया गया। मेन्यू में भिंडी की सब्जी, करेले की कलौंजी, लौकी की सब्जी, अरहर दाल, खीरे का रायता तुरई की सब्जी और रोटी-चावल था। इसके साथ छाछ और रसमलाई भी रखी गई।

      दलित परिवार के 5 लोग हैं गवर्नमेंट जॉब में

      - दलित दयाराम सरोज के परिवार में सीएम के साथ कुल 25 अतिरिक्त लोगों के लिए भोजन बनाया गया। जिस दयाराम के घर सीएम ने भोजन किया, उनके घर के पांच सदस्य सरकारी नौकरी करते हैं और गांव के करोड़पतियों में उनकी गिनती होती है।

      मायावती को चुनौती देकर हीरो बनी थीं स्वाति सिंह

      - साल 2016 में स्वाति सिंह के पति और तात्कालीन बीजेपी नेता दयाशंकर सिंह ने बसपा सुप्रीमो मायावती के खिलाफ अपशब्द कहे थे, जिसके बाद उन्हें पार्टी से बर्खास्त कर दिया गया था।
      - जवाब में बसपा के कार्यकर्ताओं ने दयाशंकर की बेटी के लिए गलत बातें कही थीं। अपशब्दों से नाराज स्वाति ने मायावती के खिलाफ मोर्चा खोला था। उन्होंने चैलेंज किया था कि वो किसी भी सीट से चुनाव लड़कर बसपा प्रमुख को हरा सकती हैं।
      - उन्होंने कहा था, "मेरे पति ने अगर कुछ गलत भी किया हो तो उसकी सजा मेरी बेटी को कैसे दी जा सकती है?" उन्होंने अपनी सास के साथ गवर्नर से मुलाकात कर बसपा सपोर्टर्स के खिलाफ शिकायत की थी।
      - स्वाति सिंह की पॉपुलारिटी देखते हुए बीजेपी ने उन्हें टिकट दिया था और वो 2017 का विधान सभा चुनाव जीती थीं। इसके बाद उन्हें योगी सरकार में मंत्री पद भी दिया गया।

    • दलित के किचन में रोटी बेलने पहुंच गई ये मंत्री, थोड़ी ही देर में दुख गई कमर
      +5और स्लाइड देखें
      सीएम योगी आदित्यनाथ जहां लंच करने पहुंचे, उस घर की महिलाओं की हेल्प करने पहुंची थीं स्वाति सिंह।
    • दलित के किचन में रोटी बेलने पहुंच गई ये मंत्री, थोड़ी ही देर में दुख गई कमर
      +5और स्लाइड देखें
      लकड़ी के चूल्हे पर रोटी सेकतीं स्वाति सिंह।
    • दलित के किचन में रोटी बेलने पहुंच गई ये मंत्री, थोड़ी ही देर में दुख गई कमर
      +5और स्लाइड देखें
      रोटी सिकवाने के बाद स्वाति सिंह ने सभी मंत्री विधायकों के साथ खाना खाया।
    • दलित के किचन में रोटी बेलने पहुंच गई ये मंत्री, थोड़ी ही देर में दुख गई कमर
      +5और स्लाइड देखें
      लंच करते हुए सीएम आदित्यनाथ योगी।
    • दलित के किचन में रोटी बेलने पहुंच गई ये मंत्री, थोड़ी ही देर में दुख गई कमर
      +5और स्लाइड देखें
      सीएम के लिए उनकी मनपसंद तुरई-लौकी, भिंडी और करेले की सब्जी बनी। स्वीट डिश में रसमलाई मिट्टी की प्याली में परोसी गई।
    Topics:
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

    More From Allahabad

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×