पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ओवैसी की पार्टी के नेता ने कोरोनावायरस को लेकर झूठे दावों की पोस्ट की, पुलिस ने गिरफ्तार किया

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी नेता मंसूर अली। - Dainik Bhaskar
आरोपी नेता मंसूर अली।
  • गिरफ्तार नेता ओवैसी का करीबी और प्रयागराज का जिलाध्यक्ष
  • क्षेत्राधिकारी करछना ने कहा- आरोपी नेता ने अफवाह फैलाई

प्रयागराज. कोरोना के कहर पर लगाम लगाने के लिए देश 21 दिनों के लिए लॉकडाउन है। केंद्र के साथ राज्य सरकार लोगों को इस बीमारी से बचाव और इसके प्रति सजग रहने के लिए जागरुक कर रही है तो वहीं तमाम लोग अफवाह फैलाकर लोगों को भ्रमित कर रहे हैं। ताजा मामला प्रयागराज से है। यहां एआईएमआईएम के जिलाध्यक्ष मंसूर आलम को पुलिस ने सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने के आरोप में गिरफ्तार किया है। 

ये भी पढ़े
73 दिन बाद खत्म हुआ सीएए विरोधी प्रदर्शन, तीन प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी के बाद घट गई थी भीड़

पोस्ट की ये झूठी बात
नैनी कोतवाली क्षेत्र के गंजिया मोहल्ला निवासी मंसूर आलम को एआईएमआईएम पार्टी प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के करीबी बताया जाता है। उन्होंने मंगलवार को फेसबुक अकाउंट पर एक पोस्ट की। जिसमें लिखा- भारत में 500 नहीं, बल्कि 50,000 से ज्यादा लोग कोरोनावायरस से मर चुके हैं। सरकार झूठ बोल रही है। महज कुछ मिनट बाद उनकी यह पोस्ट वायरल हो गई। मामला पुलिस के संज्ञान में आया। क्षेत्राधिकारी करछना आशुतोष तिवारी ने बताया कि नैनी पुलिस ने मंसूर आलम को गिरफ्तार कर लिया। उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।

ये है कोरेाना केस की सच्चाई
देश के 24 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश कोरोना संक्रमण की चपेट में हैं। संक्रमितों की संख्या बुधवार सुबह तक 567 हो गई, अब तक 11 लोगों की जान गई है। तमिलनाडु के मदुरै में सुबह 54 वर्षीय संक्रमित मरीज ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। कोरोना के सबसे ज्यादा 109 मामले केरल में हैं, जबकि महाराष्ट्र (101) दूसरे नंबर पर है। मंगलवार आधी रात से अगले 21 दिनों के लिए सभी राज्यों में लॉकडाउन रहेगा।
 

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आसपास का वातावरण सुखद बना रहेगा। प्रियजनों के साथ मिल-बैठकर अपने अनुभव साझा करेंगे। कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा बनाने से बेहतर परिणाम हासिल होंगे। नेगेटिव- परंतु इस बात का भी ध...

और पढ़ें