प्रयागराज / धारदार हथियार से युवक की हत्या, सिर व प्राइवेट पार्ट काटकर हत्यारों ने किया गायब



X

  • औद्योगिक क्षेत्र में मिली युवक की सिर विहीन लाश, मोबाइल व बाइक भी लापता
  • नाराज परिजनों की पुलिस से झड़प, कातिलों की गिरफ्तारी तक शव न उठने देने की मांग कर रहे थे ग्रामीण

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2019, 07:07 PM IST

प्रयागराज. औद्योगिक क्षेत्र के मसिका गांव के सामने से न्यू निर्माणाधीन रेलवे लाइन के नीचे सरसों के खेत में शनिवार रात 20 वर्षीय एक सब्जी विक्रेता युवक की गला काटकर नृशंस हत्या कर दी गई। कातिलों ने उसका सिर व प्राइवेट पार्ट काटकर गायब कर दिया है। सुबह उधर शौच के लिए गए ग्रामीणों ने बिन सिर की लाश देखी तो पुलिस को सूचित किया गया। पुलिस पहुंची, कुछ देर बाद मृतक के परिजन भी आ गए। सिर विहीन धड़ पर पड़े कपड़े के आधार पर मृतक की शिनाख्त की गई। 

 

उसके बाद परिजन हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर अड़ गए। पुलिस को शव उठाने से मना कर दिया। पुलिस ने फॉरेंसिक टीम व डॉग स्क्वॉयड बुलाकर करीब तीन घंटे तक गायब सिर को खोजने की कोशिश की, लेकिन सफलता नहीं मिली। कातिल मारे गए युवक के दो मोबाइल हैंडसेट व बाइक भी उठा ले गए हैं। मौके पर उसके दोनों पैर के चप्पल मिले हैं। 


मूलत: पुरानी झूंसी के केवटान बस्ती निवासी मदनलाल बिंद सब्जी कारोबारी है। उसकी शादी घूरपुर थाना क्षेत्र के नीबी गांव निवासी स्वर्गीय कामता प्रसाद बिंद व श्रीमती तीजा देवी की बेटी बिटोला देवी के साथ हुआ था। उन दोनों के एक बेटा राहुल (20) था। जो पिता के साथ नीबी चौराहे पर सब्जी की दुकान लगाता था। शनिवार की रात में सात बजे तक उसने चौराहे पर पालक व मूली बेचा। उसके बाद घर पहुंचा। उस वक्त मां बिटोला देवी नहाकर दीपक जलाने जा रही थी। वह घर से बाइक लेकर निकला था। उसके बाद उसकी मां बिटोला ने उसे फोन करना शुरू किया लेकिन उसने फोन नहीं उठाया। 

 

साढ़े आठ बजे के करीब उसका फोन स्विच आफ हो गया। उसके बाद मां-बाप उसे रात में ही ढूंढने लगे। सुबह तक ढूंढे लेकिन कुछ पता नहीं चला। सुबह करीब आठ बजे पता चला कि मसिका गांव के सामने निर्माणाधीन रेलवे लाइन के बगल सरसों के खेत में एक सिर कटी लाश पड़ी है। परिजन पहुंचे तो पता चला कि वह लाश उनके बेटे राहुल बिंद की ही है। मौके पर औद्योगिक क्षेत्र के अलावा करछना, नैनी, घूरपुर, बारा की फोर्स पहुंच गई। 

 

एसपी यमुनापार दीपेंद्र नाथ चौधरी, एसपी क्राइम आशुतोष मिश्रा, सीओ करछना सच्चिदानंद  व एसडीएम करछना आईएएस आकांक्षा राना पूरे दल बल के साथ पहुंच गई। पुलिस वालों के पहुंचने से पहले मौके पर सैकड़ों की भीड़ इकट्ठा हो गई। नाराज लोगों ने शव उठाने से पुलिस को मना कर दिया। इस बात को लेकर करीब तीन घंटे तक पुलिस से नोकझोक होती रही। आखिरकार हल्का बल प्रयोग करने के बाद पुलिस ने करीब 11 बजे शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हाउस भेजा। इससे पहले उसके गायब सिर, मोबाइल व बाइक की खोज कराने की कोशिश की गई लेकिन मिला।

 

एसपी यमुनापार दीपेंद्र नाथ चौधरी ने बताया कि, युवक की गला काटकर हत्या की गई है। उसका सिर, मोबाइल व बाइक अभी नहीं मिली है। पता लगाया जा रहा है। आशनाई का मामला हो सकता है।

 

DBApp


 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना