अयोध्या विवाद / शिला पूजन के लिए शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने जारी किया रामाग्रह यात्रा का रूट चार्ट



ज्योतिष पीठाधीश्वर स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती। ज्योतिष पीठाधीश्वर स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती।
X
ज्योतिष पीठाधीश्वर स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती।ज्योतिष पीठाधीश्वर स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती।

  • शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने किया 21 फरवरी को शिलापूजन का ऐलान
  • कहा- संतों को नहीं सरकार पर भरोसा, इसीलिए यह कदम उठाना पड़ा

Dainik Bhaskar

Feb 11, 2019, 10:42 PM IST

प्रयागराज. शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने अयोध्या में शिला पूजन के लिए जाने का रूट चार्ट सोमवार को जारी कर दिया है। इस यात्रा को रामाग्रह यात्रा नाम दिया गया है। शंकराचार्य ने कुंभ में ऐलान किया था कि वह 21 फरवरी को साधू-संतों के साथ अयोध्या जाकर वहां श्रीराम मंदिर के लिए शिला पूजन करेंगे। उन्होंने कहा है कि संतों को सरकार पर भरोसा नहीं है इसीलिए यह कदम उठाया है।

 

उन्होंने बताया कि प्रयागराज से कूच करने के बाद संतों का जत्था 17 फरवरी को प्रतापगढ़ और 18 फरवरीको सुल्तानपुर में रुकेगा। इसके बाद 20 फरवरी को अयोध्या में एक सभा होगी और 21 फरवरी को अयोध्या में शिलापूजन कर मंदिर का शिलान्यास किया जाएगा। प्रयागराज से अयोध्या तक की यात्रा को रामाग्रह यात्रा का नाम दिया गया है।

 

दरअसल प्रयाग में लगे कुंभ में हाल ही में आयोजित परमधर्म संसद में ज्योतिष पीठाधीश्वर स्वरूपानंद सरस्वती ने कहा था कि साधू-संत प्रयागराज से सीधे अयोध्या जाएंगे और 21 फरवरी को अयोध्या में राम मंदिर के शिलान्यास का कार्यक्रम होगा। कुम्भ मेला में 28, 29 और 30 जनवरी को चले धर्म संसद के अंतिम दिन ज्योतिष पीठाधीश्वर स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती द्वारा पारित परम धर्मादेश में हिंदू समाज से वसंत पंचमी के बाद प्रयागराज से अयोध्या के लिए प्रस्थान करने का आह्वान किया था। उन्होंने कहा था कि अगर अयोध्या में एकत्रित हुए लोगों को गोलियों को सामना करना पड़ेगा तो भी कदम पीछे नहीं हटेंगे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना