प्रयागराज / हाइकोर्ट ने दरोगा भर्ती 2016 के रिजल्ट को किया रद्द, नए सिरे से परिणाम जारी करने का आदेश



sub inspector bharti result 2016 allahabad high court canceled the result
X
sub inspector bharti result 2016 allahabad high court canceled the result

  • हाइकोर्ट ने फाइनल सूची में शामिल दरोगाओं की ट्रेनिंग की रोकी गई
  • पूरे परिणाम को नए सिरे से घाषित करने का आदेश 

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2019, 03:47 PM IST

प्रयागराज. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इसी साल फरवरी महीने में यूपी पुलिस में हुई दो हज़ार से ज़्यादा दरोगाओं की भर्ती की चयन सूची को रद्द कर दिया है। अदालत ने माना है कि रिजल्ट मनमाने तरीके से तैयार किया गया और इसमें नियमों की अनदेखी की गई है।

 

यह आदेश जस्टिस सुनीता अग्रवाल तथा जस्टिस सुनीत कुमार की खण्डपीठ ने अतुल कुमार द्विवेदी तथा दर्जनों अन्य की विशेष अपीलों को स्वीकार करते हुए दिया है।

 

हाईकोर्ट की डिवीजन बेंच ने पूरे रिजल्ट को नये सिरे से घोषित किये जाने का आदेश दिया है। हाईकोर्ट के इस सख्त आदेश से ट्रेनिंग कर रहे तकरीबन बाइस सौ दरोगाओं के साथ ही यूपी सरकार को भी बड़ा झटका लगा है। 

 

कोर्ट ने अपीलार्थियों के तर्कों से सहमत होते हुए चयन परिणाम रद्द कर दिया। कोर्ट ने कहा कि, शारीरिक दक्षता आदि टेस्ट लेने की जरूरत नहीं है। नियमानुसार नए सिरे से परिणाम घोषित किया जाए। इस भर्ती में चयनित अभ्यर्थी ट्रेनिंग भी कर चुके हैं। ऐसे में कई अभ्यर्थियों को नौकरी से हाथ धोना पड़ सकता है।

 

यह है मामला

17 जून 2016 को 2707 पुलिस उपनिरीक्षक, पीएसी प्लाटून कमांडर, फायर फाइटिंग ऑफिसर की भर्ती निकाली गई। 2015 की नियमावली के तहत भर्ती की जानी थी। इसमें 2181 अभ्यर्थियों को चयनित किया गया। याची अधिवक्ताओं का तर्क था कि चयन प्राक्रिया में नियम 15 के उपबन्धों का पालन नहीं किया गया। नॉर्मलाइजेशन प्राक्रिया में नियमों की अनदेखी कर मनमानी की गई। 28 जून 2017 को नॉर्मलाइजेशन का नियम लागू किया गया।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना