बुलंदशहर हिंसा / जीतू फौजी समेत सात आरोपियों को हाईकोर्ट से मिली जमानत, राजद्रोह लगने के बाद रुक गई थी रिहाई



हिंसा की आवाज पूरे देश में उठी थी। हिंसा की आवाज पूरे देश में उठी थी।
X
हिंसा की आवाज पूरे देश में उठी थी।हिंसा की आवाज पूरे देश में उठी थी।

  • बीते साल तीन दिसंबर को बुलंदशहर के स्याना कोतवाली इलाके में गोकशी के बाद भड़की थी हिंसा
  • हिंसा में इंस्पेक्टर व एक ग्रामीण युवक की गई थी जान
  • 22 नामजद व 60 अज्ञात पर दर्ज किया गया था केस, 42 आरोपी जेल में

Dainik Bhaskar

Aug 14, 2019, 10:33 AM IST

बुलंदशहर. बीते साल तीन दिसंबर को उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले में गोकशी को लेकर हुई हिंसा के मामले में आरोपी जीतू फौजी समेत सात आरोपियों को हाईकोर्ट से जमानत मिल गई है। यहां हिंसा में 22 नामजद और तकरीबन 60 अज्ञात पर केस दर्ज किया गया था। इस मामले में 42 आरोपी अभी जेल में बंद हैं। 

 

ये भी पढ़ें

Yeh bhi padhein

 

बवाल व हत्या के इन आरोपियों को पहले भी जमानत मिली थी। लेकिन राजद्रोह लगने के बाद रिहाई रुक गई थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अब राजद्रोह की धारा में आरोपियों को जमानत दी है। 


3 दिसंबर, 2018 को बुलंदशहर के स्याना कोतवाली इलाके के चिंगरावठी में गोकशी के बाद हिंसा भड़क गई थी। इस हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह व ग्रामीण युवक सुमित कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इसके बाद बजरंग दल के जिला संयोजक योगेश राज समेत 22 लोगों पर नामजद मुकदमे दर्ज किए गए थे। पुलिस ने हिंसा के 28 दिन बाद इंस्पेक्टर की हत्या के मुख्य आरोपी राजीव उर्फ कलुवा को गिरफ्तार कर जेल भेजा था।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना