• Hindi News
  • Uttar pradesh
  • Allahabad
  • Prayagraj। Magh mela 2020। VHP Unveiled Gran Ram Mandir Model Of Ayodhya, Common People Will be able to visit for the last time latest news updated

प्रयागराज / विहिप ने माघ मेले में दर्शनार्थ रखा राम मंदिर का प्रस्तावित मॉडल, अंतिम बार दर्शन कर सकेंगे आम लोग

राम मंदिर का प्रस्तावित स्वरूप। राम मंदिर का प्रस्तावित स्वरूप।
X
राम मंदिर का प्रस्तावित स्वरूप।राम मंदिर का प्रस्तावित स्वरूप।

  • साल 1989 में पहली बार माघ मेले में रखा गया था राम मंदिर का प्रस्तावित मॉडल
  • विहिप के केंद्रीय उपाध्यक्ष चंपत राय ने किया अनावरण

Dainik Bhaskar

Jan 12, 2020, 05:26 PM IST

प्रयागराज. सुप्रीम कोर्ट से अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त होने के बाद विश्व हिंदू परिषद ने रविवार को भव्य राम मंदिर के प्रस्तावित स्वरूप को अंतिम बार माघ मेले में दर्शनार्थ स्थापित किया है। इसे सीतापुर के कलाकारों ने निशुल्क तैयार किया है। अब मंदिर के स्वरूप को आम लोग भी देख सकेंगे। साल 1989 में पहली बार माघ मेले में ही राम मंदिर का स्वरूप स्थापित किया गया था। तब राम मंदिर आंदोलन के नायक विहिप के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक सिंघल इस कार्यक्रम की अगुआई कर रहे थे।

परेड ग्राउंड में स्थित शिविर में विहिप के केंद्रीय उपाध्यक्ष चंपत राय ने अनावरण किया। 22 मार्च से 2 अप्रैल तक राम महोत्सव मनाया जाएगा। इस दौरान भगवान राम की शोभायात्रा बड़े स्तर पर निकाली जाएगी। आंदोलन के दौरान जिन गांवों में शिलापूजन हुआ, वहां मंदिर निर्माण से पहले भव्य कार्यक्रम होगा। 

शिविर में विश्व हिंदू परिषद काशी प्रांत के पदाधिकारियों की बैठक चल रही है। उद्घाटन सत्र में क्षेत्रीय संगठन मंत्री अंबरीश सिंह ने कहा- संगठन सामाजिक समरसता के लिए हिंदू समाज की एकता एवं वर्तमान समय में हिंदू समाज संस्कृत के समक्ष खड़ी चुनौतियों एवं ज्वलंत विषयों को चिंतन के लिए कार्यक्रम हो रहा है। आज की बैठक में केंद्रीय उपाध्यक्ष चंपत राय बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित हैं। 

20 जनवरी को अहम बैठक
क्षेत्रीय संगठन मंत्री अंबरीश ने कहा- माघ मेले में 20 जनवरी को विश्व हिंदू परिषद केंद्रीय मार्गदर्शक मंडल की बैठक होगी। इस दौरान राम मंदिर निर्माण को लेकर मंडल महत्वपूर्ण निर्णय लेगा। 21 जनवरी को संत सम्मेलन में राम मंदिर मुद्दे पर देशभर से आए साधु-संतों से मंथन होगा। इस बैठक में धर्मांतरण, संस्कृति और पवित्र नदियों की रक्षा पर चर्चा होगी। इस बैठक में हिस्सा लेने के लिए सीएम योगी और संघ के पदाधिकारियों को आमंत्रित किया गया है। योगी इस बैठक में बतौर गोरक्ष पीठाधीश्वर शिरकत करेंगे। 


स्वयंसेवी संस्था ने की मदद
पिछले कई दिनों से अयोध्या में राम मंदिर के प्रस्तावित मॉडल का निर्माण कार्य विहिप के शिविर में चल रहा है। इसके लिए सीतापुर के कलाकार यहां डेरा जमाए हुए हैं। वहां की एक स्वयंसेवी संस्था की देखरेख में मॉडल बनाया जा रहा है। खास बात यह कि यह कार्य नि:शुल्क किया जा रहा है। कुंभ मेले के दौरान भी विहिप शिविर में राम मंदिर के प्रस्तावित मॉडल को रखा गया था लेकिन अब जब अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण तय हो गया है तो विहिप ने मंदिर के मॉडल में थोड़ा परिवर्तन किया है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना