--Advertisement--

Video: देश की सुरक्षा करने में शहीद हुआ एटा का जवान

गांव के लोगों ने नाराज होकर किया प्रदर्शन

Dainik Bhaskar

Dec 08, 2018, 07:57 PM IST

एटा(उत्तर प्रदेश)। सरहद पर पाकिस्तान की गोलाबारी में एटा जिले का एक और बहादुर बेटा राजेश सिंह शहीद हो गया। यह सूचना मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। पत्नी, मां और बहनों का रो रोकर बुरा हाल है। पूरे गांव में सन्नाटा पसरा है। शहीद जवान का पार्थिव शरीर गांव पहुंचाने के बाद दिन भर कोई भी प्रशासनिक अधिकारी या कोई सरकारी जनप्रतिनिधि शहीद के परिवार को सांत्वना देने नहीं पहुंचा। नाराज होकर लोगों ने जलेसर-रेजुआ मार्ग जामकर रोडवेज बस पर पथराव कर दिया। फिर घंटों बाद अधिकारियों ने लोगों को शांत कराकर जाम खुलवाया।

जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में तैनात 57 आर-आर रेजीमेंट के जवान थे राजेश कुमार सिंह। थाना जलेसर के रेजुआ गांव निवासी राजेश की ड्यूटी गुरुवार रात एलओसी पर माछिल सेक्टर में थे। जहां देर रात पाकिस्तान ने संघर्ष उल्लंघन करते हुए फायरिंग कर दी, जिसमें राजेश गोली लगने से शहीद हो गए। सुबह जब बेटे की शहादत की खबर परिजनों को हुई तो लोगों का रो-रोकर बुरा हाल है।

राजेश कुमार की शादी वर्ष 2016 में रीना से हुई थी। शहीद राजेश चार बहनों का अकेला भाई था। दो बहनों की शादी हो गई है, जबकि दो बहनों की शादी के लिए मार्च 2019 में राजेश घर आने वाले थे। लेकिन इससे पहले उनकी शहादत की खबर आ गई। राजेश की शादी बागवाला क्षेत्र के गांव परसोन निवासी श्वेता से हुई थी। पत्नी गर्भवती हैं। घर पर संवेदना देने के लिए सरकार की तरफ से कोई नहीं पहुंचे। इससे गुस्साए लोगों ने मार्ग जामकर करते हुए प्रदर्शन शुरू कर दिया। लोग सीएम योगी को बुलाने की मांग करने लगे। घंटों बाद अधिकारियों ने लोगों को शांत कराकर जाम खुलवाया है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended