फ़र्रूख़ाबाद

--Advertisement--

इस लड़की से सीखिए सबक: जिंदगी में कुछ नहीं, बहुत कुछ करना है

महिला दिवस पर जानिए शिवानी की कहानी...

Dainik Bhaskar

Mar 07, 2018, 04:38 PM IST
शिवानी किसी पर आश्रित नहीं हैं शिवानी किसी पर आश्रित नहीं हैं

फर्रुखाबाद(यूपी)। यह है शिवानी श्रीवास्तव। इनके बचपन से दोनों हाथ नहीं हैं। शिवानी साइंस से ग्रेजुएशन के बाद बीएड कर रही हैं। शिवानी बच्चों को ट्यूशन भी देती हैं। शिवानी मुसीबत से भागने वालों के लिए सबक हैं। महिला दिवस पर जानिए शिवानी की कहानी...


-फतेहगढ़ के शांतिनगर निवासी राजेश श्रीवास्तव की बेटी शिवानी के बचपन से ही दोनों हाथ नहीं है। इसके अलावा उसका दाया पैर छोटा और टेढा भी है।
-बचपन से ही शारीरिक संघर्ष के बावजूद शिवानी ने खुद को कभी मायूस नहीं होने दिया। शिवानी ने पैरों को ही अपने हाथ बना लिए। धीरे-धीरे वो पैरों के जरिये ही अपने सारे काम करने लगीं।
- साइंस से ग्रेजुएशन करने के बाद शिवानी अब बीएड कर रही है। शिवानी मोहल्ले के बच्चों को ट्यूशन भी पढ़ाती हैं।
-शिवानी के पिता बताते हैं कि, शिवानी को शुरुआत में काम करने के दौरान काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा, लेकिन उसने हार नहीं मानी। आज वो किसी पर भी आश्रित नहीं है।
-पढ़ाई-लिखाई, खाना-पीना, नहा-धोकर तैयार होना आदि ऐसा कोई भी काम नहीं है, जो शिवानी खुद न करती हो।

X
शिवानी किसी पर आश्रित नहीं हैंशिवानी किसी पर आश्रित नहीं हैं
Click to listen..