देवरिया यौन शोषण मामला: सीबीआई करेगी जांच, गोरखपुर के वृद्धाश्रम से मिली लापता लड़की

Bhaskar News | Aug 08,2018 12:12 PM IST

देवरिया बालिका गृह में लड़कियों के कथित यौन शोषण मामले की जांच अब सीबीआई करेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसकी सिफारिश की है। इसके साथ ही विभागीय जांच एसआईटी से कराने का फैसला किया गया। उधर, बालिका गृह की संचालिका गिरिजा त्रिपाठी की बेटी को गोरखुपर में हिरासत में लिया गया। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। गिरिजा का बेटा पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है।

देवरिया मामले में आरोपी महिला के गोरखपुर वृद्धाश्रम में छापा, मौके पर मिली 21 साल की लड़की; पुलिस ने किया 5 को गिरफ्तार

DainikBhaskar.com | Aug 07,2018 19:10 PM IST

एडीएम प्रशासन प्रभुनाथ ने बताया कि लड़की से पूछताछ की जा रही है। उसकी चार वृद्ध महिलाओं के साथ रजिस्टर में इंट्री मिली है। जो लीगल नहीं है। क्योंकि यह वृद्धाश्रम है। उन्होंने बताया की लड़की के मेडिकोलीगल के बाद और पूछताछ की जाएगी। फिलहाल वृद्धाश्रम को सील कर दिया गया है। बताते चले कि वृद्धाश्रम में देर रात भी प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों ने छापा मारा था, लेकिन उस समय आश्रम के संचालकों ने देवरिया से लाई गई लड़की को कहीं छुपा दिया था। दोपहर बाद ही प्रशासन ने वृद्धाश्रम की चार वृद्धों को दूसरे जगह शिफ्ट कर दिया था। बताया जा रहा है कि इस आश्रम में कुल 13 कमरे हैं।

देवरिया: बालिका गृह की मान्यता नहीं थी फिर भी पुलिस ने 3 साल में 707 लड़कियों को दिलाई शरण; डीपीओ बर्खास्त

DainikBhaskar.com | Aug 07,2018 17:16 PM IST

अब इस मामले में नए तथ्य सामने आ रहे हैं। अधिकारीयों के मुताबिक इस बालिका गृह की मान्यता जून 2017 से ही स्थगित है। जबकि तीन साल से इसका फंड भी रोक दिया गया था। इस बात की जानकारी जिला प्रशासन को भी लेकिन संस्था के रिकॉर्ड के अनुसार पुलिस अभी भी गुमशुदा या घर से भागी लड़कियों की बरामदगी कर उन्हें इसी बालिका गृह में भेजता रहा है।

बिहार के बाद उप्र का बालिका गृह भी जांच के घेरे में: सुबह रोते हुए लौटती थीं लड़कियां, 24 बच्चियों को मुक्त कराया

DainikBhaskar.com | Aug 06,2018 17:52 PM IST

उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में बालिका गृह की लड़कियों के साथ यौन शोषण का मामला सामने आया है। रविवार को बालिका गृह से एक लड़की भाग गई। लोगों ने लड़की को महिला पुलिस थाने पहुंचाया। थाने में पूछताछ के दौरान उसने बताया कि बालगृह से बड़ी-बड़ी गाड़ियों से लोग आते हैं और 15 साल के ऊपर की लड़कियों को ले जाते हैं। लड़की के इस आरोप के बाद तुरंत हरकत में आए प्रशासन ने बालिका गृह पर छापा मारकर वहां रह रही 24 लड़कियों को मुक्त कराया।