--Advertisement--

गोरखपुर: फरार बीजेपी पार्षद पर 10 हजार का ईनाम घोषित, थाने में हंगामा-तोड़फोड़ का है आरोप

पूरा मामला असली हिन्दू युवा वाहिनी और नकली हिन्दू युवा वाहिनी से जुड़ा हुआ है।

Danik Bhaskar | Aug 19, 2018, 01:46 PM IST

गोरखपुर. 31 जुलाई को यहां के राजघाट थाने में हंगामा-तोड़फोड़ करना और पुलिस कस्टडी से भाई को छुड़ाने की कोशिश के आरोप में फरार चल रहे बीजेपी पार्षद सौरभ विश्वकर्मा पर पुलिस ने 10 हजार का ईनाम घोषित किया है। दरअसल, पूरा मामला असली हिन्दू युवा वाहिनी और नकली हिन्दू युवा वाहिनी से जुड़ा हुआ है।

बीजेपी पार्षद सौरभ विश्वकर्मा का भाई चंदन हिन्दू युवा वाहिनी भारत से जुड़ा हुआ है। 31 जुलाई को राजघाट पुलिस ने चंदन को एक व्यक्ति को धमकी देने के आरोप में गिरफ्तार किया था। सूचना पाकर मौके पर सीएम योगी की हिन्दू युवा वाहिनी से अलग होकर हिन्दू युवा वाहिनी भारत बनाने वाले राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह भी पहुंच गए। सुनील और सौरभ विश्वकर्मा ने मिलकर भाई को छुड़ाने के लिए थाने पर अपने समर्थकों संग हंगामा और तोड़फोड़ की थी।

तब पुलिस ने लाठीचार्ज कर हंगामा ख़त्म किया और 9 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। थाने में हंगामा और तोड़फोड़ के अलावा अन्य संगीन धाराओं में पुलिस ने पार्षद सौरभ विश्वकर्मा पर भी मुकदमा दर्ज कर उनकी तलाश करना शुरू कर दी, लेकिन वह फरार चल रहा था। राजघाट थानेदार की रिपोर्ट पर एसएसपी ने 12 अगस्त को सौरभ पर दस हजार रुपये का इनाम घोषित किया है।