--Advertisement--

दिनभर मेहनत करते थे मजदूर-रात में उखड़ जाती थी पटरियां, ऐसे निकला रास्ता

गोरखपुर. यूपी के गोरखपुर रेलवे स्टेशन पूरी दुनिया में सबसे लंबे प्लेटफॉर्म के लिए फेमस है।

Dainik Bhaskar

Feb 07, 2018, 12:40 PM IST
interesting story of dargah at gorakhpur railway station

गोरखपुर. यूपी के गोरखपुर रेलवे स्टेशन पूरी दुनिया में सबसे लंबे प्लेटफॉर्म के लिए फेमस है। लेकिन यहां एक और ऐसी जगह है, जिसे देखने दूर-दूर से लोग आते हैं। यहां रेलवे लाइन के बीच में बाबा की मजार है। बताया जाता है कि करीब 200 साल पहले बाबा की मजार यहां बनाई गई थी।

ये है बाबा की मजार की कहानी...

- हजरत मुंशा शाह शहीद रहमतुल्ला अलैह और हजरत मंगल शाह शहीद रहमतुल्ला अलैह की दरगाह गोरखपुर रेलवे स्टेशन पर रेलवे लाइंस के बीच में स्थ‍ित है। इनकी दरगाह करीब 200 साल पुरानी बताई जाती है।

- कहा जाता है कि इनके चमत्कार से अंग्रेजों ने भी घुटने टेक दिए थे। ब्रिटिश सरकार साल 1930 में गोरखपुर में रेल की पटरियां बिछा रही थी।

- मजदूर दिनभर मेहनत करके रेल की पटरियां बिछा कर जाते थे, लेकिन दूसरे दिन वह अपने आप उखड़ जाती थीं। उस समय के रेल अफसर को एक दिन हजरत मुंशा शाह शहीद रहमतुल्ला अलैह का सपना आया। उसको आदेश दिया गया कि मजार की जगह छोड़ पटरियां बिछाई जाए।

- उसके बाद उसने मजार शरीफ की जगह छोड़कर रेल की पटरियां बिछाने शुरू की। उसके बाद से पटरियां उखड़नी बंद हो गई।

- तभी से लोग यहां आकर मन्नत मांगने लगे। हिंदू, सिख, मुस्ल‍िम सभी यहां आते हैं और मन्नत का धागा बांधकर जाते हैं।

- स्थानीय निवासी मनोज कुमार बताते हैं, बाबा की मजार पर आकर सुकून महसूस होता है। यहां दिल से मांगी गई हर मन्नत पूरी होती है।

X
interesting story of dargah at gorakhpur railway station
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..