उत्तर प्रदेश / मुख्यमंत्री को रो-रोकर सुनाई शोहदों की मनमानी और पुलिस की नाकामी की कहानी

Dainik Bhaskar

Oct 12, 2018, 04:57 PM IST



गोरखपुर में से मिलकर बाहर आती पीड़िता गोरखपुर में से मिलकर बाहर आती पीड़िता
X
गोरखपुर में से मिलकर बाहर आती पीड़ितागोरखपुर में से मिलकर बाहर आती पीड़िता

  • गोरखपुर में हैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, पीड़िता ने जिस थाना प्रभारी पर लगाए आरोप, सीएम ने उसी को दी मामले की जांच
  • आरोपियों पर कार्रवाई करनी की जगह युवती को ही धमकाती है पुलिस

गोरखपुर. उत्तर प्रदेश पुलिस पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए कितनी गंभीर है, इसकी कहानी शुक्रवार को गोरखपुर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एक युवती ने सुनाई। उसने बताया कि उसके पड़ोसी रंजिशन उसके साथ छेड़छाड़ करते हैं। घर में पत्थर फेंकते हैं। जब वह शिकायत करने जाती है तो पुलिस वाले उसे ही धमका देते हैं। 

 

तिवारीपुर का है मामला: पीड़िता का आरोप है कि उसके पड़ोसी से पुराना विवाद है। इसके चलते पड़ोसी उसके घर पर पत्थर फेंकते हैं। मना करने पर मारपीट व छेड़खानी की जाती है। कई बार तिवारीपुर थाने गई, लेकिन प्रभारी ने कार्रवाई करने से मना कर दिया। उल्टे यह कहकर भगा दिया कि मर्डर भी हो गया तो कार्रवाई नहीं करुंगा। 

 

जिसके खिलाफ शिकायत, उसी को दी जांच: शुक्रवार की सुबह पीड़ित लड़की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यालय पहुंची। पीड़िता ने सीएम को घटना की सीसीटीवी फुटेज भी दिखाई। पीड़िता ने तिवारीपुर थाना प्रभारी पर भी आरोप लगाए थे, लेकिन मुख्यमंत्री ने तिवारीपुर थाना प्रभारी राम भवन यादव को ही मामले की जांच करने के निर्देश दे दिए।

 

COMMENT