--Advertisement--

राजनीति / साइकिल पर हाथी केवल सर्कस में बैठता है: सपा-बसपा गठबंधन पर बोले गन्ना मंत्री सुरेश राणा

Dainik Bhaskar

Sep 14, 2018, 01:42 PM IST


वहीं सपा बसपा गठबंधन पर व्यंग करते हुए गन्ना मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि हाथी, साइकिल पर केवल सर्कस में ही बैठा दिखता है। वहीं सपा बसपा गठबंधन पर व्यंग करते हुए गन्ना मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि हाथी, साइकिल पर केवल सर्कस में ही बैठा दिखता है।
X
वहीं सपा बसपा गठबंधन पर व्यंग करते हुए गन्ना मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि हाथी, साइकिल पर केवल सर्कस में ही बैठा दिखता है।वहीं सपा बसपा गठबंधन पर व्यंग करते हुए गन्ना मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि हाथी, साइकिल पर केवल सर्कस में ही बैठा दिखता है।

  • गन्ना मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि सपा को गन्ना किसानों पर बोलने का नैतिक अधिकार नहीं है।
  • हमारी सरकार आने के बाद सपा सरकार के समय का 4.5 हजार करोड़ रुपया हमने तुरंत भुगतान कराया है। आज गन्ना किसान खुश हैं।

बलरामपुर. उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले में विकास कार्यों की हकीकत जानने सूबे के गन्ना मंत्री सुरेश राणा पहुंचे। यहां मंत्री ने अधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद विकास की हकीकत से रूबरू हुए। मीटिंग के बाद मीडिया से मुखातिब हुए सुरेश राणा ने सपा बसपा गठबंधन को लेकर व्यंग करते हुए समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पर भी हमला बोला।

 

साइकिल चलाने से कुछ नहीं होगा: सुरेश राणा ने सपा बसपा को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि अखिलेश चाहे जितनी साइकिल यात्रा निकाल ले उनसे कुछ नही होगा। जब इनके पास मौका था कुछ करने का तब तो इन्होंने कुछ नही किया। अब जनता को गुमराह करने में जुटे हुए हैं।

 

हाथी साइकिल पर सिर्फ सर्कस में बैठता है: वहीं सपा बसपा गठबंधन पर व्यंग करते हुए गन्ना मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि हाथी, साइकिल पर केवल सर्कस में ही बैठा दिखता है। इसके अलावा कभी नही बैठता है न ही किसी ने देखा होगा। आज मोदी जी के सामने सब बौने नजर आ रहे है। 

 

अखिलेश के ट्वीट का दिया जवाब: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के ट्वीट के जवाब देते हुए गन्ना मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि सपा को गन्ना किसानों पर बोलने का नैतिक अधिकार नहीं है। सपा सरकार में गन्ना किसान आत्महत्या कर रहा था। किसानों को 4 साल तक गन्ने का भुगतान नहीं मिलता था। हमारी सरकार आने के बाद सपा सरकार के समय का 4.5 हजार करोड़ रुपया हमने तुरंत भुगतान कराया है। आज गन्ना किसान खुश हैं।

Astrology

Recommended

Click to listen..