पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नेपाल सीमा के आसपास 257 मस्जिदों और मदरसों पर सरकार की नजर, टेरर फंडिंग की आशंका को लेकर खुफिया निगरानी

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • सूत्रों के अनुसार खुफिया एजेंसियां अपने हिसाब से पड़ताल में जुटी हैं तो पुलिस मस्जिद, मदरसों में आने वाले फंड, लोगों की कुंडली तैयार कर रही हैं
  • 6 जिलों कुशीनगर, महराजगंज, सिद्धार्थनगर, बहराइच, बलरामपुर और श्रावस्ती की सीमा नेपाल से सटी हैं, यहां बनी मस्जिदों की गतिविधियों की जांच

गोरखपुर. नेपाल सीमा के आसपास के जिलों में एकाएक तैयार हुईं 257 मस्जिदों और मदरसों की पुलिस ने खुफिया निगरानी शुरू कर दी है। यहां टेरर फंडिंग की आशंका जताई जा रही है। खुफिया रिपोर्ट आने के बाद एडीजी जोन दावा शेरपा ने सीमा के आसपास के जिलों की पुलिस को सक्रिय कर दिया है। पुलिस को एक-एक मस्जिद, मदरसे की निगरानी करने को कहा गया है और कुछ भी संदिग्ध मिलने पर एडीजी को तत्काल सूचना भेजने का आदेश दिया गया है। 

ये भी पढ़े
टेरर फंडिंग में जिन 77 पर केस, उनमें से 34 कराेड़पति; 7 साल पहले दाेपहिया वाहन भी नहीं था अब बन गए कराेड़पति
गोरखपुर जोन के 11 में से 6 जिलों  कुशीनगर, महराजगंज, सिद्धार्थनगर, बहराइच, बलरामपुर और श्रावस्ती की सीमा नेपाल से सटी हैं। इन्हीं जिलों में अचानक से बड़ी संख्या में मस्जिद, मदरसे सामने आए हैं। खुफिया रिपोर्ट आने के बाद  एसएसबी और पुलिस ने सक्रियता बढ़ा दी है। 

मस्जिदों एवं मदरसों में आने वालों पर निगरानी शुरू
इन इलाकों में संदिग्ध लोगों और उनकी गतिविधियों पर भी निगरानी रखी जा रही है। सूत्रों के अनुसार खुफिया एजेंसियां अपने हिसाब से पड़ताल में जुटी हैं तो पुलिस मस्जिद, मदरसों में आने वाले फंड व लोगों की कुंडली तैयार कर रही है।


एडीजी जोन दावा शेरपा के मुताबिक, पुलिस को 257 मस्जिद, मदरसों के बारे में जानकारी मिली है। इनसे जुड़े लोगों के गतिविधियों की जांच का आदेश दिया गया है। पुलिस निगरानी कर रही है।