गोरखपुर / आलू सब्जी के रस में छात्रों को मिला पनीर व अंडा करी, भूख हड़ताल पर बैठे, एसडीएम ने मनाया



विद्यालय में खाने की गुणवत्ता परखते एसडीएम व सीओ। विद्यालय में खाने की गुणवत्ता परखते एसडीएम व सीओ।
X
विद्यालय में खाने की गुणवत्ता परखते एसडीएम व सीओ।विद्यालय में खाने की गुणवत्ता परखते एसडीएम व सीओ।

  • गोरखपुर के जवाहर नवोदय विद्यालय का मामला
  • एसडीएम ने ठेकेदार व प्रधानाचार्य को व्यवस्थाओं को सुधारने के लिए दी सख्त हिदायत

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2019, 12:12 PM IST

गोरखपुर. पीपीगंज स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय के छात्रों ने बुधवार रात मेस में खाने की गुणवत्ता को लेकर जमकर हंगामा किया। खाने का बहिष्कार करते हुए छात्र हॉस्टल की छत पर जाकर भूख हड़ताल पर बैठ गए। छात्रों का आरोप है कि, मेस में उन्हें खराब खाना परोसा जा रहा है। हॉस्टल में गंदगी बहुत है। कैंपियरगंज एडीएम मनोज कुमार त्रिपाठी व सीओ दिनेश कुमार सिंह ने मौके पर पहुंचकर छात्रों को मनाया तो वे खाने के लिए तैयार हो गए। एसडीएम ने प्रधानाचार्य व ठेकेदार को व्यवस्थाएं सुधारने की सख्त हिदायत दी है। 

 

खाना खा चुके थे जूनियर छात्र

पीपीगंज के जंगली स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय में बुधवार रात करीब आठ बजे जूनियर छात्र खाना खाकर मेस से जा चुके थे। इसके बाद सीनियर छात्र पहुंचे। वे आलू की सब्जी के रस में पनीर व अंडा दिए जाने पर भड़क गए। छात्रों ने खाने का बहिष्कार कर दिया और भूख हड़ताल पर बैठ गए। छात्रों का कहना है कि मेस में मीनू के अनुसार खाना नहीं मिलता है। खाने की गुणवत्ता बेहद घटिया रहती है। कई बार शिकायत करने के बाद भी सुधार नहीं हुआ है। यह सब विद्यालय प्रशासन की लापरवाही है। खेलकूद के संसाधन भी नहीं है। हॉस्टल व मेस में गंदगी रहती है। 

 

एसडीएम ने ठेकेदार को जेल भेजने की चेतावनी दी 

सूचना पाकर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। उपजिला अधिकारी कैंपियरगंज मनोज कुमार त्रिपाठी और क्षेत्राधिकारी दिनेश कुमार सिंह भी पहुंचे। उन्होंने व्यवस्थाओं में सुधार का आश्वासन देकर हड़ताल खत्म कराई। इसके बाद छात्रों ने खाना खाया। एसडीएम मनोज कुमार त्रिपाठी ने प्राचार्य को कड़ी फटकार लगाई। ठेकेदार को हिदायत दी कि, यदि सुधार नहीं हुआ तो जेल भेज दिया जाएगा। 

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना