Hindi News »Uttar Pradesh »Jhansi» Actor Shiva Rindani Interview To Dainik Bhaskar

एक्टर से डायरेक्टर बना ये शख्स, 10 साल तक रहा फिल्मों से दूर

फिल्म 'हम' में विलेन से चर्चित हुए शिवा झांसी किले की तलहटी के नीचे लगे हस्तशिल्प मेले मैं अपनी परफॉर्मेंस करने आए।

Ram Naresh Yadav | Last Modified - Jan 04, 2018, 11:20 AM IST

एक्टर से डायरेक्टर बना ये शख्स, 10 साल तक रहा फिल्मों से दूर

झांसी. यहां आयोजित हस्तश‍िल्प मेले में परफॉर्म करने मंगलवार को एक्टर श‍िवा रिनदानी पहुंचे थे। प्रोग्राम के बाद उन्होंने DainikBhaskar.com से बातचीत में अपनी लाइफ से जुड़ी इंटरेस्ट‍िंग बातें शेयर की। वो कहते हैं, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ की मुहिम के साथ मैं हरिद्वार के संत कैलाश महाराज की प्रेरणा से झांसी आया हूं। मेरी दो बेटियां हैं। मैं चाहता हूं बेटियों को अच्छी से अच्छी शिक्षा मिले। औरत नहीं तो मां नहीं, मां नहीं तो जन्नत नहीं और जन्नत नहीं तो खुदा नहीं, इसलिए बेटियों का दर्जा बहुत बड़ा है।

जब बार-बार रिजेक्ट हो रहा था इस एक्टर का सीन, फिर...

- शिवा ने बताया, मैंने गुजरात के राजकोट से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की। फिर अचानक फिल्मों की ओर मेरा इंटरेस्ट बढ़ गया और मैं गुजरात से मुंबई आ गया।
- मुंबई में मेरे पास न कोई रोजगार था और न ही कोई फिल्म। इंडस्ट्री में मेरा कोई गॉडफादर न होने की वजह से कई महीनों भटकना पड़ा और धक्के खाने पड़े। लेकिन मैंने कभी हार नहीं मानी।

- आख‍िरकार वो दिन भी आया जब मुझे 'घर एक मंदिर है' फिल्म मिल गई। फिल्म में मेरा रोल भले ही छोटा था, लेकिन इंडस्ट्री में मेरी ओपनिंग हो चुकी थी।
- इसके बाद कयामत से कयामत तक, काला साम्राज्य और मिथुन चक्रवर्ती के साथ 'गरीब' फिल्म की।

- 'गरीब' की शूटिंग चल रही थी। उस दौरान मेरे सीन को बार-बार रिजेक्ट किया जा रहा था, जिससे मैं बुरी तरह से मायूस हो गया था। फिर अमरीश पुरी मेरे पास आए और हौसला बढ़ाया। इसके बाद मैंने वो सीन पूरा किया।

- पहले मेरा नाम मुकेश था, लेकिन बाद में शिवा पड़ गया। इसके पीछे भी इंटरेस्ट‍िंग कहानी है।
- 'मेरा जवाब' फिल्म की शूटिंग चल रही थी। उस दौरान जैकी श्रॉफ ने मुझे पहली बार शिवा कहकर बुलाया, तभी से मेरा नाम शिवा पड़ गया।

इस वजह से 10 साल तक फिल्मों से रहे दूर
- श‍िवा हम, देशद्रोह और घातक जैसी 200 फिल्मों में काम कर चुके हैं। यही नहीं, 'रक्त' मूवी इन्होंने खुद डायरेक्ट की।
- वह कहते हैं, फिल्म तो कामयाब ना हो सकी लेकिन मैं डायरेक्टर बन गया। इसके बाद से फिल्म इंडस्ट्री के निर्माता-निर्देशकों ने मुझे फिल्में नहीं दी।
- बतौर एक्टर 2006 में राजदान के डायरेक्शन में आई फिल्म 'सौतन दी अदर वूमेन' जिसमें महिमा चौधरी लीड रोल में थी, वो मेरी लास्ट मूवी थी।
- बीते 10 सालों से मैंने सीरियल और फिल्मों में काम नहीं किया। अब 2017 से फिल्मों में सक्रिय हुआ। अभी टीवी शो 'रूद्र के रक्षक' में महाकाल का रोल कर रहा हूं। इसके अलावा काली चट्टान, डोंट वरी बी हैप्पी सहित 7 फिल्में कर रहा हूं।
- फिल्मों में अगर आप एक भी अच्छा रोल कर देते हैं, तो लोग सालों तक याद रखते हैं। मैंने डायरेक्शन किया तो लोगों को लगा कि शिवा डायरेक्टर बन गया, इसलिए किसी ने मुझे काम के लिए नहीं बुलाया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jhansi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×