--Advertisement--

पति का ट्रांसफर रूकवाने के लिए अफसर से भि‍ड़ी BJP नेत्री, VIDEO वायरल

उरई में बीजेपी लीडर और तहसीलदार के बीच हुई झड़प का वीडियो वायरल हो रहा है।

Danik Bhaskar | Dec 28, 2017, 09:22 AM IST
जालौन में लेखपाल पति का ट्रांसफर रूकवाने के लिए भ‍िड़ी लेडी BJP नेत्री। जालौन में लेखपाल पति का ट्रांसफर रूकवाने के लिए भ‍िड़ी लेडी BJP नेत्री।

जालौन (यूपी). जिले की उरई तहसील में बीजेपी लीडर और तहसीलदार के बीच हुई झड़प का वीडियो वायरल हो रहा है। बीजेपी लीडर सुमन वर्मा अपने लेखपाल पति का ट्रांसफर रुकवाने के लिए तहसीलदार के पास गई थी। आरोप है कि तहसीलदार द्वारा पैसे की डिमांड करने की बात कह कर हंगामा काटा गया। वहीं, तहसीलदार ने आरोप लगाया कि बीजेपी लीडर ट्रांसफर को लेकर मेरे ऊपर अनावश्यक दबाव बना रही थी।

ये है पूरा मामला...

- मिली जानकारी के अनुसार, शहर के इंदिरा नगर की रहने वाली बीजेपी लीडर सुमन के पति लेखपाल हैं। उनकी पोस्टिंग करसान के बजीदा में है। बीते सप्ताह उनका ट्रांसफर कुईया गांव के लिए कर दिया गया है।
- ट्रांसफर रुकवाने के लिए सुमन उरई तहसील पहुंची, जहां उनकी तहसीलदार से झड़प हो गई। जिसका वीडियो वायरल हो रहा है।

रिश्वत मांगने का लगाया आरोप
- सुमन ने आरोप लगाया कि, ''मैं तहसीलदार ब्रजेश कुमार वर्मा के पास ट्रांसफर रुकवाने के लिए गई थी, लेकिन तहसीलदार ट्रांसफर रोकने के बदले में 30 हजार रुपए की डिमांड करने लगे साथ ही उन्होंने अश्लीलता की।''
- ''जब मैंने बीजेपी के जिला मीडिया प्रभारी को सूचना दी तो वह भी मौके पर आ गए। तहसीलदार में उनसे भी अभद्रता करते हुए जान से मारने की धमकी दी। हमने तहसीलदार के खिलाफ कोतवाली में लिखित शिकायत दर्ज कराई है।''

बनाया जा रहा था दबाव
- तहसीलदार बृजेश कुमार ने कहा, ''पैसे की डिमांड वाली बात गलत है, मेरे ऊपर ट्रांसफर को लेकर अनावश्यक दबाव बनाया जा रहा है। जबकि ट्रांसफर उच्चाधिकारियों द्वारा किया गया है। हंगामे की जानकारी आला ऑफिसर्स को दे दी गई है जो उनके निर्देश होंगे उसी के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।''
- एसडीएम अक्षय त्रिपाठी ने कहा, ''मामला मेरे संज्ञान में है, अभी मैं किसी काम से शहर से बाहर हूं। वापस आते ही दोनों पक्षों की बात सुनी जाएगी, उसके बाद कोई कार्रवाई की जाएगी।''​

नेत्री ने आरोप लगाया कि ट्रांसफर रोकने के लिए तहसीलदार पैसे मांग रहा था। नेत्री ने आरोप लगाया कि ट्रांसफर रोकने के लिए तहसीलदार पैसे मांग रहा था।
तहसीलदार ने आरोप लगाया कि ट्रांसफर रूकवाने के लिए दबाव बनाया जा रहा था। तहसीलदार ने आरोप लगाया कि ट्रांसफर रूकवाने के लिए दबाव बनाया जा रहा था।