Hindi News »Uttar Pradesh »Jhansi» Family Protest For Ration In Jhansi

भूख से तड़प रही ये फैमिली पहुंची DM के पास, बोली- रोटी दो या मौत

झांसी में कलेक्ट्रेट परिसर में ए‍क परिवार राशन को लेकर धरने पर बैठ गई।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 30, 2018, 10:00 AM IST

  • भूख से तड़प रही ये फैमिली पहुंची DM के पास, बोली- रोटी दो या मौत
    +1और स्लाइड देखें
    कलेक्ट्रेट परिसर में DM ऑफिस के सामने पूरा परिवार धरने पर बैठ गई।

    झांसी (यूपी). यहां सोमवार को कलेक्ट्रेट परिसर में ए‍क परिवार राशन को लेकर धरने पर बैठ गई। परिवार के हाथ पर एक तख्ती थी, जिसमें लिखा है, रोटी दो या मौत दो। उनका आरोप है कि परिवार को दो वक्त की रोटी नसीब नहीं हो रही है। यहां तक कि फ्री में मिलने वाले राशन कार्ड के लिए भी 4 हजार रुपए की रिश्वत देनी पड़ी है फिर भी राशन नहीं मिला।

    ये है पूरा मामला...

    - यहां के इतवारी गंज की रहने वाली नर्गिस सोमवार को कलेक्ट्रेट परिसर में DM ऑफिस के सामने पूरे परिवार के साथ धरने पर बैठ गई। उसके हाथ में रोटी दो या मौत लिखी तख्ती थी।
    - नर्गिस ने धरने के दौरान बाताया, ''मेरे परिवार में मेरे अलावा मेरा पति और 2 बच्चे हैं। पति मजदूर है, रोज-रोज मजदूरी मिलती नहीं है, जिससे हमारे बच्चे आए दिन भूखे पेट सोते हैं।''
    - ''हमें सरकारी गल्ले की दुकान से राशन लेकर काम चलाना पड़ता है। अब क्षेत्र के कोटेदार ने भी राशन देने से इंकार कर दिया। उसने राशन कार्ड बनवाने के नाम पर 4 हजार रुपए भी ले लिए फिर भी न कार्ड बना और न ही राशन मिला।''
    - ''ऐसे में जिला पूर्ति कार्यालय गई तो वहां भी बाबू ने मुझे भगा दिया। अब मैं अन्न के दाने-दाने के लिए परेशान हो उठी तो प्रशासन से रोटी मांगने आई हूं।''
    - डीएम कर्ण सिंह चौहान ने कहा, ''नर्गिस की शिकायत के आधार पर जांच की जाएगी और उसका जल्द से जल्द राशन कार्ड बनवा दिया जाएगा। मामले की जांच की जा रही है। अगर कोटेदार दोषी पाया जाता है, तो उसपर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।''

  • भूख से तड़प रही ये फैमिली पहुंची DM के पास, बोली- रोटी दो या मौत
    +1और स्लाइड देखें
    आरोप है कि उन्हें राशन नहीं मिल रहा है।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jhansi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×