--Advertisement--

कर्ज के बोझ से परेशान किया सुसाइड, सूखे के कारण खराब हो गई थी फसल

किसान ने साहूकारों से 1.50 लाख रुपए का कर्ज लिया था।

Danik Bhaskar | Feb 28, 2018, 01:53 PM IST
किसान क्रेडिट कार्ड पर 60 हजार रुपए का कर्ज था। किसान क्रेडिट कार्ड पर 60 हजार रुपए का कर्ज था।
ललितपुर. कर्ज और सूखे की मार झेल रहे एक किसान ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि पानी के अभाव में गेंहू की फसल सूख जाने व कर्ज से परेशान चल रहे किसान ने खेत के पास एक पेड़ में फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है। इधर पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मृतक परेशान चल रहा था और उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पोस्टमार्टम हाऊस के बाहर मृतक के भाई ने बताया कि कर्ज के चलते उसके भाई ने आत्महत्या की है।

- थाना बानपुर के ग्राम छिल्ला निवासी 45 वर्षीय मनोहर पुत्र रघुवीर मंगलवार रात घर से खाना खाकर खेत पर चला गया। सुबह काफी देर जब घर नहीं पहुंचा और उसका भतीजा तुलसी उसे देखने के लिये खेत पर पहुंचा तो उसके देखा के किसान का शव पेड़ पर लटका मिला। तत्काल वह घर पर पहुंचा और परिजनों को सूचना दी।
-सूचना मिलते ही तहसीलदार समेत क्षेत्राधिकारी व थानाध्यक्ष मौके पर पहुंचे और मौका मुआयना करने के बाद शव को नीचे उतरवाया। मृतक के भाई नंदलाल ने बताया कि मृतक के नाम पौने 2 एकड़ व उसकी पत्नी के नाम 3 एकड़ जमीन है।
- इस वर्ष उसने गेहूं की फसल बोई थी, लेकिन कुएं में पानी सूख जाने के कारण फसल की सिंचाई नहीं हो पा रही थी। जिस कारण फसल नष्ट होने की कगार पर आ गई थी, इसी के चलते वह कुछ दिनों से परेशान चल रहा था।
- परिजन ने बताया किसान क्रेडिट कार्ड पर 60 हजार रूपये ले रखे थे, इसके अलावा डेढ़ लाख रूपये साहूकारों से कर्जा ले रखा था। फसल सूखने से वह परेशान था। इसी के चलते वह आत्मघाती कदम उठाने को मजबूर हुआ। मृतक की 2 बेटी व एक बेटी है।
- वह खेती किसानी कर परिवार का पालन पोषण करता था। उसकी मौत से परिवार में कोहराम मच गया है।
- अपर पुलिस अधीक्षक अवधेश कुमार ने बताया कि किसान के शव का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। जानकारी लगी है कि किसान परेशान चल रहा था।
पानी ने होने के कारण किसान की फसल खराब हो गई थी। पानी ने होने के कारण किसान की फसल खराब हो गई थी।