झांसी

--Advertisement--

जॉब के नाम पर सोशल साइट्स से करता था ठगी, 9 महीने ऐसे हुआ अरेस्ट

ललितपुर में सोशल साइट्स से लाखों की ठगी करने वाला आरोपी अरेस्ट हो गया है।

Dainik Bhaskar

Jan 22, 2018, 09:57 AM IST
Fraud by social sites in lalitpur

ललितपुर (यूपी). यहां रेलवे में सुपरवाइजर की नौकरी का झांसा देकर एक शख्स लोगों से ठगी करता था। इसकी शिकायत जबतक पुलिस से की गई तबतक वह बेरोजगार युवकों से लाखों की रकम लेकर फरार हो गया। 2000 हजार के इनामी आरोपी को पकड़ने के लिए कोतवाली पुलिस और क्राइम ब्रांच ने संयुक्त रूप से कार्यवाही करते की। मामले में फरार दूसरे आरोपियों की तलाश की जा रही है।

ये है पूरा मामला...

- शहर कोतवाली में मीडिया से प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए एएसपी अवधेश कुमार विजेता ने बताया, ''9 महीने पहले कोतवाली पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर नौकरी के नाम पर लोगों के साथ धोखाधड़ी कर लाखों की ठगी करने का मामला दर्ज किया था।''
- ''आरोपियों की गिरफ्तारी ना होते देख एसपी सलमान ताज पाटिल ने एमपी के ग्वालियर जनपद के दुबे सदन न्यू कोटेश्वर कॉलोनी घास मंडी निवासी कपिल दुबे व जबलपुर निवासी सुमित खरे पर 2000 रुपए का इनाम घोषित कर दिया था।''
- ''आरोपियों की तलाश में जुटी पुलिस में कपिल दुबे को रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार कर लिया।''

ठगी का जरिया थी सोशल साइट्स
- ठगी के आरोपी सोशल मीडिया के सहारे बेरोजगारों को अपना शिकार बनाते थे। इसके बाद भोपाल स्थित ऑफिस में बुलाकर सारी डिटेल लेकर उनसे रुपए ऐंठने का काम करते थे। अबतक आरोपी 15 लाख रुपए तक की ठगी कर चुके हैं। हर आदमी से 1.6 लाख रुपए लिया करते थे।
- जखौरा थाना क्षेत्र नागवांस गांव निवासी निखिल दुबे मैं कोर्ट में शिकायती पत्र देकर बताया था कि आरोपी सुमित खरे ने दिल्ली में ट्रेन माल उतारने व चढ़ाने व सुपरवाइजर का ऑफर देते हुए लाखों की ठगी कर डाली।

X
Fraud by social sites in lalitpur
Click to listen..