--Advertisement--

लड़के करना चाहते थे कुछ गलत, नदी में कूदकर इस लड़की ने बचाई जान

झांसी में 11वीं की छात्रा के साथ कुछ लड़कों ने छेड़छाड़ कर किडनैप करने की कोश‍िश की है।

Dainik Bhaskar

Dec 21, 2017, 11:10 AM IST
Girl molested by Boys in jhansi

बांदा. यहां 11वीं में पढ़ रही एक छात्रा के साथ कुछ लड़कों ने छेड़छाड़ कर किडनैप करने का प्रयास किया। लड़की ने नदी में कूदकर अपनी आबरू बचाई। बता दें, कुछ दिन पहले ही लड़की को डीजीपी ने शक्ति परी के रूप में सम्मानित किया था। 

 

ये है पूरा मामला...

 

- यहां के पैलानी थाना क्षेत्र के सिंधनकला की रहने वाली 16 साल की पीड़िता ने बताया, ''मैं 13 तारीख को शाम 5 बजे कोचिंग पढ़कर घर आ रही थी। मैं नदी के किनारे आई तो वहां पेड़ के नीचे 7 लड़के शराब पी रहे थे।''
- ''उन्होंने मुझे देखा और गालियां देना शुरु कर दिया। उसमें से एक लड़का आया और मेरा बैग छीन लिया। मैं दौड़कर नदी में कूद गई, वो अपनी गाड़ी मोड़कर मेरा पीछा करने लगे।''
- ''इस बीच उनकी गाड़ी मौरंग मैं फंस गई, मौका मिलते ही मैं जोर-जोर से चिल्लाने लगी। मेरी आवाज सुनकर गांव के 2 लोग मेरी मदद को आगे बढ़े, उन्हें देख लड़के भाग गए।''
- बता दें, मां की सूचना पर आई यूपी-100 ने शोहदों को ही यह कहकर क्लीन चिट दे दिया, कि जिनका नाम लिया जा रहा है, वे शराब नहीं पीते हैं।
- इस पर छात्रा और उसकी मां ने बुधवार को पुलिस अधीक्षक शालिनी से शिकायत की। एसपी ने क्षेत्राधिकारी दीक्षा सिंह और राजीव प्रताप सिंह को जांच के लिए भेजा। साथ ही डायल 100 को फटकार लगाई।

 

सोते समय चीखने लगती है बेटी
- पीड़िता की मां ने बताया, ''हादसे वाले दिन से बेटी इतना डर गई है वह अच्छी तरह से खाना पीना तो दूर बात भी नहीं कर पा रही थी। रात में सोते-सोते चिल्लाने लगती है, बचाओ-बचाओ... मेरे ऊपर गाड़ी चढ़ा दी है। वे मुझे मार डालेंगे।''
- ''उस दिन से बेटी की मानसिक स्थिति बहुत खराब है। उसका बराबर इलाज कराया जा रहा है लेकिन वह अभी तक ठीक नहीं हुई है।''

 

पूरे मामले पर पुलिस ने ये कहा
- एसपी शालिनी ने बताया, ''पीड़िता 16 साल की है, मामला पॉक्सो एक्ट के तहत लिखा गया है। लड़की ने जितने लोगों को नामजद कराया था वे सारे अरेस्ट हो चुके हैं।''
- ''आरोपी जिस गाड़ी से आए थे, उसकी तलाश चल रही है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।''

 

कुछ दिन पहले DGP कर चुके है सम्मान
- थाना प्रभारी ने छात्रा के 'शक्ति परी' होने से अनभिज्ञता जताई। उधर, छात्रा ने बताया, ''उसने अपने जीआईसी पैलानी के माध्यम से शक्ति परी के लिए आवेदन पत्र भेजा था।''
- ''पिछले हफ्ते नारी सुरक्षा सप्ताह में बांदा आए डीजीपी सुलखान सिंह ने सेंटमैरी सीनियर सेकेंडरी स्कूल में शक्ति परियों को सम्मानित किया था। इस प्रोग्राम में मुझे भी सम्मानित किया गया था।''

Girl molested by Boys in jhansi
Girl molested by Boys in jhansi
Girl molested by Boys in jhansi
Girl molested by Boys in jhansi
X
Girl molested by Boys in jhansi
Girl molested by Boys in jhansi
Girl molested by Boys in jhansi
Girl molested by Boys in jhansi
Girl molested by Boys in jhansi
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..