Hindi News »Uttar Pradesh »Jhansi» Lady Singham Ranjana Gupta Spicel Story In Jhansi

इस लेडी इंस्पेक्टर के फिल्मी है एक्शन, लोग बुलाते है लेडी सिंघम

डिग्री कॉलेज में कभी लेक्‍चरर रही एसओ डॉ. रंजना अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर की निशानेबाज भी हैं।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Feb 04, 2018, 11:59 AM IST

  • इस लेडी इंस्पेक्टर के फिल्मी है एक्शन, लोग बुलाते है लेडी सिंघम
    +4और स्लाइड देखें
    क्राइम ब्रांच में इंस्पेक्टर रंजना गुप्ता तैनात हैं।

    झांसी (यूपी). यहां क्राइम ब्रांच में तैनात इंस्पेक्टर रंजना गुप्ता ने इंदौर में आयोजित ऑल इंडिया पुलिस शूटिंग स्पोर्ट्स चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल हासिल किया है। साथ ही रंजना को बेस्ट शूटर भी चुना गया है। बता दें कि वह अंतरराष्ट्रीय स्तर की निशानेबाज भी हैं। उन्होंने इस प्रतियोगिता में पहली बार गोल्ड मेडल जीता है। इससे पहले रंजना अपनी निशानेबाजी के दम पर शूटिंग में एक नहीं दर्जनों इंटरनेशनल, नेशनल और स्टेट लेवल के पुरस्कार जीत चुकी हैं।

    लेडी सिंघम के नाम से पुकारते है लोग...

    - रंजना गुप्ता बदमाशों से बिल्‍कुल फिल्‍मी अंदाज में निपटती हैं। जब कहीं बड़ी मुठभेड़ की आशंका होती है, तो कमान इन्‍हें ही सौंपी जाती है। इनके समर्पण और लोकप्रियता को देखते हुए यूपी सरकार इन्‍हें लक्ष्‍मण पुरस्‍कार भी दे चुकी है।
    - ये अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर की निशानेबाज रहते हुए कई अवॉर्ड भी जीत चुकी हैं। झांसी में तैनाती मिलने के कारण इस लेडी सिंघम को आमजन रानी लक्ष्‍मीबाई के नाम से भी पुकारते हैं।
    - ये मूल रूप से कानपुर देहात क्षेत्र की निवासी हैं। अपराधियों के प्रति इनकी सख्‍ती इन्‍हें दूसरे प्रशासनिक अधिकारियों से अलग करती है। अपराधी इनके सामने आने से भी खौफ खाते हैं।
    - सूत्रों की मानें तो, यहां तैनाती मिलने के बाद क्राइम का ग्राफ जरूर कम हुआ है।

  • इस लेडी इंस्पेक्टर के फिल्मी है एक्शन, लोग बुलाते है लेडी सिंघम
    +4और स्लाइड देखें
    इंदौर में आयोजित ऑल इंडिया पुलिस शूटिंग स्पोर्ट्स चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल हासिल किया है।

    छोड़ दी लेक्‍चरर की आरामदायक नौकरी


    - डॉ. रंजना ने साल 2007-08 में डिग्री कॉलेज में लेक्चरर की आरामदायक नौकरी छोड़ दी। इसके बाद वे पुलिस विभाग से जुड़ीं। ये शुरू से ही तेजतर्रार रही हैं।
    - ट्रेनिंग के दौरान ही उन्हें एक गैंग के साथ मुठभेड़ करने के लिए पुलिस टीम में शामिल किया गया। वह इस टीम में शामिल होने वाली अकेली महिला पुलिस अधिकारी थीं।
    - पुलिस टीम ने इस गैंग से मुठभेड़ करते हुए एक अपहृत व्‍यक्ति को रिहा भी करा लिया था। इसमें रंजना की भूमिका अहम रही थी।

  • इस लेडी इंस्पेक्टर के फिल्मी है एक्शन, लोग बुलाते है लेडी सिंघम
    +4और स्लाइड देखें
    रंजना गुप्ता बदमाशों से बिल्‍कुल फिल्‍मी अंदाज में निपटती हैं।

    5 मर्डर केस की मिस्‍ट्री सुलझाई


    - जालौन के बघौरा में एकसाथ 5 मर्डर के केस ने पुलिस को उलझा दिया था। पुलिस अधिकारियों द्वारा पूरे जिले के सभी थानाध्यक्षों को बुलाया गया। इस दौरान डॉ. रंजना कालपी थाना में एसआई थीं।
    - अधिकारियों ने कालपी थाना के थानाध्यक्ष की बजाय एसआई रंजना को बुलाया। उन्हें इस मर्डर केस को सुलझाने का स्पेशल टास्क मिला। उन्होंने किसी को निराश भी नहीं किया और कुछ ही दिनों में केस सुलझा दिया। डॉ. रंजना ने एकसाथ 5 मर्डर करने वाले को जेल भेज दिया।

  • इस लेडी इंस्पेक्टर के फिल्मी है एक्शन, लोग बुलाते है लेडी सिंघम
    +4और स्लाइड देखें
    अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर की निशानेबाज रहते हुए कई अवॉर्ड भी जीत चुकी हैं।

    प्रभावशाली लोगों ने कराया ट्रांसफर


    - अवैध कामों पर रोक लगाने के लिए इनका ट्रांसफर कालपी स्थित कोच बस स्‍टैंड की गई। यहां आते ही जब उन्‍होंने अपने स्‍वभाव के अनुरूप कार्य करना शुरू किया तो प्रभावशाली लोगों ने 19 दिनों के भीतर इनका ट्रांसफर करवा दिया। हालांकि, डॉ. रंजना के चर्चे आज भी यहां काफी मशहूर हैं।

  • इस लेडी इंस्पेक्टर के फिल्मी है एक्शन, लोग बुलाते है लेडी सिंघम
    +4और स्लाइड देखें
    झांसी में तैनाती मिलने के कारण इस लेडी सिंघम को आमजन रानी लक्ष्‍मीबाई के नाम से भी पुकारते हैं।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jhansi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×