--Advertisement--

बेटी ने 20 मर्दों का किया था एक साथ मर्डर, अब मां को है अपनों से खतरा

झांसी में फूलन देवी की मां अपने ही घर वालो से परेशान है।

Dainik Bhaskar

Jan 18, 2018, 11:26 AM IST
फूलन देवी की मां अपनी जमीन के कब्जे के लिए मदद की गुहार ला रही है। फूलन देवी की मां अपनी जमीन के कब्जे के लिए मदद की गुहार ला रही है।

झांसी (यूपी). डाकू से सांसद बनीं फूलन देवी ने कभी 20 मर्दों की एक साथ हत्या कर बीहड़ में अपना दबदबा कायम किया था। अब उन्हीं फूलन देवी की मां न्याय के लिए अधिकारियों की चौखट पर गुहार लगाती घूम रही है। उनके खेत पर उसके भतीजे ने कब्जा कर रखा है, जिसकी शिकायत करने के लिए वह जालौन के एसपी के पास पहुंची थीं। फिलहाल एसपी ने संबंधित थाने को जांच कर कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

अपने ही काट ले जाते है खड़ी फसल...

- जालौन की कालपी कोतवाली क्षेत्र के शेखपुर गुढ़ा की रहने वाली फूलन देवी की मां मुला देवी ने बताया, ''एक समय बेटी के नाम मात्र से ही क्षेत्र में दहशत बनी रहती थी, लेकिन उसकी मौत के बाद समय ने ऐसी करवट ली कि अब मैं न्याय के लिए दर दर भट रही हूं।''
- ''मेरे भतीजे मइयादीन ने खेत पर कब्जा कर लिया है। पिछले कई महीने से मैं लगातार शिकायतें करती आ रही हूं, लेकिन पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। फसल की बुवाई होते ही वह दबंगई दिखाते हुए कब्जा कर लेता है और फसल काट ले जाता है।''
- एसपी अमरेंद्र सिंह ने बताया, ''कालपी कोतवाली पुलिस को मामले की जांच कर कार्रवाई के आदेश दिए गए हैं। जल्द ही मुला देवी को न्याय मिल जाएगा।''

इस हाल में रहती है फूलन की मां
- गुढ़ा गांव में एक कच्चे, झोपड़ीनुमा घर में फूलन की बूढ़ी मां मूला देवी (76), उसकी बहन रामकली और उसके बेटे के साथ रहता है। मूला ठीक से बात भी नहीं कर पाती। लोग कहते हैं कि अब उनका दिमाग ठीक से काम नहीं करता।
- कुछ भी पूछने पर वो गांव के ही कुछ लोगों द्वारा कब्जाई गई जमीन के बारे में बताने लगती हैं। वो कहती हैं, ''मैं पिछले कई सालों से 2 वक्त के खाने को भी तरस रही हूं। कुछ समाजसेवी संगठन के लोग चावल, आटा, दाल आदि दे जाते हैं।''
- ''एक समय ऐसा था जब मेरी बेटी की एक बात पर भूखों के घर में खाना पहुंच जाता था। जब फूलन थी तब भी सुख नहीं मिला। उसके डकैत बनने के बाद लोग मुझे डकैत की मां कहकर ताना देने लगे।''
- ''पुलिस पूछताछ के नाम पर टॉर्चर करती थी। जब बेटी सांसद बनी, तब भी उसने हमारे लिए कुछ नहीं किया। उसके मरने के बाद दबंगों ने हमारी जो 4-5 बीघा जमीन पर कब्जा कर लिया। सांसद बनने के बाद फूलन को जो कुछ भी मिला था, उसे उसके पति उमेश सिंह ने ले लिया।''
- ''मैं इस लायक नहीं हूं कि मेहनत मजदूरी करके पैसे कमा सकूं और घर चला सकूं। पति के छोड़ने के बाद बेटी रामकली की दिमागी हालत ठीक नहीं। वहीं, उसके बेटे को लकवा मार गया है, वो हमेशा बिस्तर पर ही लेटा रहता है।''
- ''कभी कुछ समाजसेवी लोग आते हैं और अनाज देकर चले जाते हैं, जिससे हमारा पेट भरता है। पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने एक लाख रुपए का चेक भेजा था।''

इस कांड से इंटरनेशनल लेवल पर फेमस हुईं थीं फूलन
- फूलन देवी ने अपनी ऑटोबाईग्राफी में कई ज्यादतियों की दास्तां बयां की थी। उसमें लिखा है, डकैत गिरोह का मुखिया विक्रम मल्लाह फूलन देवी से प्यार करता था। फूलन ने अपनी किताब में विक्रम मल्लाह के साथ बिताई अंतिम रात और उनके साथ हुए गैंगरेप की डिटेल्स बताई थीं।

- किताब में लिखा है- "पहली बार मैं विक्रम के साथ पति-पत्नी की तरह सोई थी। गोली चलने की आवाज से नींद खुली।''
- श्रीराम (मल्लाह और श्रीराम में फोन को लेकर विवाद हुआ था) ने विक्रम मल्लाह को गोलियों से भून डाला और उनको साथ ले गया। उन्होंने किताब में कुसुम नाम की महिला का जिक्र किया है, जिसने श्रीराम की मदद की थी।

- ''उसने मेरे कपड़े फाड़ दिए और आदमियों के सामने नंगा छोड़ दिया। श्रीराम-उसके साथी फूलन को नग्न अवस्था में ही रस्सियों से बांधकर नदी के रास्ते बेहमई गांव ले गए।''
- "सबसे पहले श्रीराम ने मेरा रेप किया। फिर बारी-बारी से गांव के लोगों ने मेरे साथ रेप किया। वे मुझे बालों से पकड़कर खींच रहे थे।"
- इसके बाद 14 फरवरी 1981 को बेहमई में फूलन ने अपना बदला लेने के लिए 20 लोगों की हत्या कर दी थी। जिससे वो इंटरनेशनल लेवल पर सुर्ख‍ियों में आईं थीं।

डाकू से सांसद बनीं फूलन देवी ने कभी 20 मर्दों की एक साथ हत्या कर दहशत फैला दी थी। डाकू से सांसद बनीं फूलन देवी ने कभी 20 मर्दों की एक साथ हत्या कर दहशत फैला दी थी।
फूलन देवी का जन्म 10 अगस्त 1963 में उत्तर प्रदेश के एक छोटे-से गांव गोरहा में हुआ था। फूलन देवी का जन्म 10 अगस्त 1963 में उत्तर प्रदेश के एक छोटे-से गांव गोरहा में हुआ था।
25 जुलाई 2001 को दिल्ली में सरकारी आवास पर ही मिर्जापुर से सांसद फूलन देवी की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। 25 जुलाई 2001 को दिल्ली में सरकारी आवास पर ही मिर्जापुर से सांसद फूलन देवी की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी।
11 साल की उम्र में अपने दोगुनी उम्र के लड़के से शादी हुई थी। 11 साल की उम्र में अपने दोगुनी उम्र के लड़के से शादी हुई थी।
X
फूलन देवी की मां अपनी जमीन के कब्जे के लिए मदद की गुहार ला रही है।फूलन देवी की मां अपनी जमीन के कब्जे के लिए मदद की गुहार ला रही है।
डाकू से सांसद बनीं फूलन देवी ने कभी 20 मर्दों की एक साथ हत्या कर दहशत फैला दी थी।डाकू से सांसद बनीं फूलन देवी ने कभी 20 मर्दों की एक साथ हत्या कर दहशत फैला दी थी।
फूलन देवी का जन्म 10 अगस्त 1963 में उत्तर प्रदेश के एक छोटे-से गांव गोरहा में हुआ था।फूलन देवी का जन्म 10 अगस्त 1963 में उत्तर प्रदेश के एक छोटे-से गांव गोरहा में हुआ था।
25 जुलाई 2001 को दिल्ली में सरकारी आवास पर ही मिर्जापुर से सांसद फूलन देवी की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी।25 जुलाई 2001 को दिल्ली में सरकारी आवास पर ही मिर्जापुर से सांसद फूलन देवी की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी।
11 साल की उम्र में अपने दोगुनी उम्र के लड़के से शादी हुई थी।11 साल की उम्र में अपने दोगुनी उम्र के लड़के से शादी हुई थी।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..