Hindi News »Uttar Pradesh »Jhansi» Police Man Care For A Unclaimed Body

पुलिस वाले ने दी मुखग्न‍ि, मौत से पहले बोला था- साब! बचा लो मुझे

झांसी के इलाइट चौराहे पर करीब 20- 25 दिन से एक लावारिस व्यक्ति बीमार हालत में रह रहा था।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 17, 2018, 11:26 AM IST

    • शहर के इलाइट चौराहे पर करीब 20-25 दिन से एक लावारिस व्यक्ति बीमार हालत में रह रहा था।

      झांसी. यूपी के झांसी में टीवी की बीमारी के चलते लावारिस व्यक्ति की मौत के बाद एक पुलिस वाले ने पूरे हिंदू रीति-रिवाज के साथ उसका अंतिम संस्कार किया। इतना ही नहीं कुछ दिन पहले जब वो बीमारी से झांसी के एक चौराहे पर तड़प रहा था, उस समय इसी कॉन्स्टेबल ने उसे हॉस्पिटल में भर्ती कराया था और अपने खर्चे से उसका इलाज करवाया था। मृतक ने सिपाही से कहा था- साब! बचा लो मुझे...

      - डीआईजी ऑफिस में सोशल साइट्स का काम देख रहे कॉन्स्टेबल जितेंद्र यादव ने बताया, ''शहर के इलाइट चौराहे पर करीब 20- 25 दिन से एक लावारिस व्यक्ति बीमार हालत में रह रहा था।''

      - ''करीब 10 दिन पहले मेरी उस पर नजर पड़ी तो मैंने उससे कहा कैसे हो भाई? उसने मुझे अपना नाम बिहारी(39) बताया और मुझसे कहा- साब बचा लो मैं मर जाऊंगा।''
      - ''मैं समझ गया इसे कोई गंभीर बीमारी है और मैंने आनन-फानन में उसे ऑटो पर बैठा कर जिला अस्पताल में भर्ती करवा दिया। वहां डॉक्टर्स ने बताया कि इसे टीवी की बीमारी है। फिर मुझसे जो बन सका मैंने उसका इलाज करवाया।''

      आप आते हो तो अच्छा लगता है
      - ''इलाज के दौरान जब मैं उससे मिलने जाता था, तो वो मुझसे कहता था- आप यहां आते हो तो बहुत अच्छा लगता है। 14 जनवरी की रात उसकी इलाज के दौरान डेथ हो गई। बिहारी का कोई रिश्तेदार नहीं था।''
      - ''मुझे इलाज कराते-कराते उससे अपनापन महसूस होने लगा था। इसलिए मैंने मंगलवार को पूरे हिंदू रीति-रिवाज के साथ बिहारी का अंतिम संस्कार किया।''

      कौन हैं जितेंद्र यादव?
      - झांसी में डीआईजी ऑफिस की सोशल मीडिया सेल में तैनात सिपाही जितेंद्र यादव को कुछ दिन पहले में रहे प्रदेश के पुलिस महानिदेशक जावीद अहमद की ओर से प्रशस्ति पत्र दिया गया था।
      - जितेंद्र पिछले कई महीनों से झांसी के प्रदर्शनी ग्राउंड के झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले गरीब परिवार के बच्चों को पढ़ाने का काम कर रहे हैं।
      - इसके अलावा उन्होंने लावारिस बुजुर्गों का अंतिम संस्कार भी किया था। वो समय-समय पर जरूरतमंदों की मदद करते रहते हैं।

    • पुलिस वाले ने दी मुखग्न‍ि, मौत से पहले बोला था- साब! बचा लो मुझे
      +4और स्लाइड देखें
      'इलाज के दौरान जब मैं उससे मिलने जाता था, तो वो मुझसे कहता था- आप यहां आते हो तो बहुत अच्छा लगता है।
    • पुलिस वाले ने दी मुखग्न‍ि, मौत से पहले बोला था- साब! बचा लो मुझे
      +4और स्लाइड देखें
      14 जनवरी की रात उसकी इलाज के दौरान डेथ हो गई।
    • पुलिस वाले ने दी मुखग्न‍ि, मौत से पहले बोला था- साब! बचा लो मुझे
      +4और स्लाइड देखें
      मुझे इलाज कराते-कराते उससे अपनापन महसूस होने लगा था।
    • पुलिस वाले ने दी मुखग्न‍ि, मौत से पहले बोला था- साब! बचा लो मुझे
      +4और स्लाइड देखें
      इसलिए मैंने मंगलवार को पूरे हिंदू रीति-रिवाज के साथ बिहारी का अंतिम संस्कार किया।
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    India Result 2018: Check BSEB 10th Result, BSEB 12th Result, RBSE 10th Result, RBSE 12th Result, UK Board 10th Result, UK Board 12th Result, JAC 10th Result, JAC 12th Result, CBSE 10th Result, CBSE 12th Result, Maharashtra Board SSC Result and Maharashtra Board HSC Result Online

    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jhansi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
    Web Title: Police Man Care For A Unclaimed Body
    (News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    More From Jhansi

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×