--Advertisement--

पहेली बना 11 Kg. का ये पत्थर, दूर-दूर से दर्शन को आ रहे लोग

हमीरपुर. यहां एक पत्थर लोगों के लिए पहेली बना हुआ है।

Dainik Bhaskar

Jan 25, 2018, 02:31 PM IST
यूपी के हमीरपुर-कानपुर बार्डर से होकर बहने वाली यमुना नदी में मिला ये पत्थर। यूपी के हमीरपुर-कानपुर बार्डर से होकर बहने वाली यमुना नदी में मिला ये पत्थर।

हमीरपुर. यहां एक पत्थर लोगों के लिए पहेली बना हुआ है। लोगों ने अब इस पत्थर की पूजा करनी शुरू कर दी है। दूर-दूर से लोग इसे देखने के लिए आ रहे हैं। कोई इसे चमत्कार बता रहा है तो कोई भगवान का रूप।

जब नदी में तैरता मिला राम नाम का पत्थर

- मामला यूपी के हमीरपुर-कानपुर बॉर्डर के सजेती थाना क्षेत्र का है। यहां से होकर बहने वाली यमुना नदी में बुधवार को मछुआरों को एक पत्थर तैरता मिला।

- यह खबर इलाके में आग की तरह फैली और पत्थर देखने के लिए लोगों की भीड़ एकजुट हो गई। लोगों ने इसे बाहर निकलवाकर मऊनखत गांव में हनुमान मंदिर में स्थापित करवाया और पूजा-पाठ शुरू कर दी।

- स्थानीय निवासी प्रवीण कुमार ने बताया, पत्थर का वजन करीब 11 किलो है, जिसपर राम नाम उकेरा हुआ है।

- इससे पहले हनुमान जी की मूर्त‍ि भी इसी तरह यमुना में तैरती मिली थी, जिसके बाद उसे गांव में स्थापित कर मंदिर बनवाया गया था। अब ये पत्थर मिला, जोकि किसी चमत्कार से कम नहीं है।

- वहीं, वीरेंद्र सिंह का कहना है, सैकड़ों साल पहले त्रेतायुग में भगवान राम ने लंका विजय करने के लिए जो पत्थरों से राम सेतु बनाया था। ये पत्थर उसी सेतु का एक हिस्सा हो सकता है।

- जानकार अरविंद सेन ने बताया, पत्थर का पानी के ऊपर तैरने के पीछे कई कारण हो सकते हैं। सबसे बड़ा कारण ये है कि पत्थर ऊपर से सिर्फ सख्त दिख रहा है, लेकिन अंदर से खोखला होगा। इसलिए वह पानी के ऊपर तैर रहा है।

पत्थर का वजन करीब 11 किलो है। पत्थर का वजन करीब 11 किलो है।
X
यूपी के हमीरपुर-कानपुर बार्डर से होकर बहने वाली यमुना नदी में मिला ये पत्थर।यूपी के हमीरपुर-कानपुर बार्डर से होकर बहने वाली यमुना नदी में मिला ये पत्थर।
पत्थर का वजन करीब 11 किलो है।पत्थर का वजन करीब 11 किलो है।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..