--Advertisement--

100 साल की मां को वोट डालवाने ऐसे लेकर आया बेटा, महिला बोली- नहीं देखा विकास

यूपी के महोबा में 100 साल पार कर चुकीं सईदा को बेटा गोद में लेकर आया वोट डलवाने।

Dainik Bhaskar

Nov 29, 2017, 03:52 PM IST
सुबह 7.30 बजे जिले की सबसे बुजुर्ग महिला सईदा वोट डालने पहुंची। सुबह 7.30 बजे जिले की सबसे बुजुर्ग महिला सईदा वोट डालने पहुंची।

महोबा. यूपी में निकाय चुनाव के तीसरे फेज के लिए वोटिंग में महोबा सहित कुल 26 जिलों के 233 नगरीय निकायों के लिए वोट डाले जा रहे हैं। यहां युवा वोटर्स के साथ-साथ बुजुर्गों ने भी बड़ी संख्या में मतदान किया।जिले की सबसे बुजुर्ग महिला पहुंची वोट करने के लिए...

- जिले में निकाय चुनाव के 128694 मतदाता है जो अपने मत का प्रयोग कर प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे।
- यहां सुबह 7.30 बजे अपनी जिंदगी के 10 दशक पार कर चुकीं जिले की सबसे बुजुर्ग महिला सईदा वोट डालने पहुंची।
- वोट डालने के बाद मीडिया ने उनसे जिले के विकास के बारे में सवाल किया तो बोलीं- मैं घर से बाहर नहीं निकलती विकास के बारे में मुझे कुछ भी नहीं है पता।
- सईदा को उनका बेटा बूथ तक लेकर आया था। जिले में कई ऐसे ही बुजुर्ग थे जो वोट डालने पहुंचे।
- किसी भी प्रकार की अनहोनी न हो इसके लिए पंचायत क्षेत्रों को 7 जोन और 16 सेक्टरों में बांटा गया है।
- 18 अतिसंवेदनशील प्लस बूथों में वेब कास्टिंग कराई गई और 112 अतिसंवेदनशील स्थलों पर वीडियोग्राफी कराई जा रही है।

26 जिलों से सरकार में 12 कैबिनेट मंत्री

- तीसरे फेज के चुनाव में 26 जिलों से सरकार में करीब 12 कैबिनेट मंत्री और 10 से ज्यादा राज्यमंत्री हैं।

- यूपी में सरकार बनाने से पहले बीजेपी नगरीय निकायों में हमेशा बहुमत में रही है। ऐसे में योगी आदित्यनाथ पर इस चुनाव में बढ़त बनाने का दबाव है।

इसलिए है BJP पर दबाव

- 2012 में हुए 14 नगर निगम के मेयर पद के चुनावों में से 12 पर बीजेपी का कब्जा था। इलाहाबाद और रामपुर वह नहीं जीत पाई थी। उस वक्त राज्य में अखिलेश यादव की सरकार थी।
- इसके बाद लोकसभा चुनाव 2014 में बीजेपी को पूर्ण बहुमत मिला था। उसे यूपी की 80 में से 73 सीटों पर जीत मिली।
- 2017 में हुए विधानसभा चुनावों में बीजेपी को 403 सीटों में से 325 सीटें मिली थीं। इतनी बड़ी कामयाबी के बाद अब सीएम योगी आदित्यनाथ पर इन चुनावों में बढ़त बनाए रखना एक बड़ी चुनौती है।

- उधर, नगरीय निकाय चुनाव में सपा पहली बार मैदान में है। उससे बीजेपी को कड़ी टक्कर मिल रही है।

बड़ी पार्टियां अपने सिंबल पर लड़ रहीं चुनाव
- यूपी के निकाय चुनाव में पहली बार सभी बड़ी पार्टियां अपने सिंबल पर चुनाव लड़ रही हैं।
- आमतौर पर निकाय चुनाव में सीएम कैंपेन नहीं करते, लेकिन योगी आदित्यनाथ ने इसमें पूरी ताकत झोंकी है। उन्होंने कई रैलियां की हैं।

इन जिलों में हो रही वोटिंग
- सहारनपुर, बागपत, बुलंदशहर, मुरादाबाद, संभल, बरेली, एटा, फिरोजाबाद, कन्नौज, औरैया, कानपुर देहात, झांसी, महोबा, फतेहपुर, रायबरेली, सीतापुर, लखीमपुर खीरी, बाराबंकी, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, महराजगंज, कुशीनगर, मऊ, चंदौली, जौनपुर और मिर्जापुर।

UP में कुल 652 नगरीय निकाय

- यूपी निकाय चुनाव 3 फेज में हो रहे हैं। पहले फेज में 52.59 फीसदी, जबकि दूसरे फेज में 49.3 फीसदी वोटिंग हुई थी।
- यूपी में 652 नगरीय निकाय हैं। इनमें 16 नगर निगम, 198 नगर पालिका और 438 नगर पंचायतें शामिल हैं।

सईदा को उनका बेटा बूथ तक गोद में लेकर गया। सईदा को उनका बेटा बूथ तक गोद में लेकर गया।
सुरक्षा को देखते हुए पंचायत क्षेत्रों को 7 जोन और 16 सेक्टरों में बांटा गया है। सुरक्षा को देखते हुए पंचायत क्षेत्रों को 7 जोन और 16 सेक्टरों में बांटा गया है।
X
सुबह 7.30 बजे जिले की सबसे बुजुर्ग महिला सईदा वोट डालने पहुंची।सुबह 7.30 बजे जिले की सबसे बुजुर्ग महिला सईदा वोट डालने पहुंची।
सईदा को उनका बेटा बूथ तक गोद में लेकर गया।सईदा को उनका बेटा बूथ तक गोद में लेकर गया।
सुरक्षा को देखते हुए पंचायत क्षेत्रों को 7 जोन और 16 सेक्टरों में बांटा गया है।सुरक्षा को देखते हुए पंचायत क्षेत्रों को 7 जोन और 16 सेक्टरों में बांटा गया है।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..