चित्रकूट / ग्रामीणों ने मतदान का बहिष्कार किया; एसडीएम ने रासुका लगाने की दी चेतावनी

Dainik Bhaskar

May 06, 2019, 03:34 PM IST



ग्रामीणों के मतदान बहिष्कार करने पर अड़े रहने पर एसडीएम ने रासुका लगाने और योजनाओं से वंचित करने की धमकी दी है। ग्रामीणों के मतदान बहिष्कार करने पर अड़े रहने पर एसडीएम ने रासुका लगाने और योजनाओं से वंचित करने की धमकी दी है।
X
ग्रामीणों के मतदान बहिष्कार करने पर अड़े रहने पर एसडीएम ने रासुका लगाने और योजनाओं से वंचित करने की धमकी दी है।ग्रामीणों के मतदान बहिष्कार करने पर अड़े रहने पर एसडीएम ने रासुका लगाने और योजनाओं से वंचित करने की धमकी दी है।

  • एसडीएम सदर के खिलाफ ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन
  • कहा- बदहाल रोड को बनवाने के लिए कई बार मांग की, लेकिन आज तक पूरी नहीं हुई

चित्रकूट. बांदा लोकसभा क्षेत्र के खपटिहा गांव में ग्रामीणों ने गांव की बदहाली को लेकर सोमवार को मतदान का बहिष्कार किया है। इसकी खबर पाकर एसडीएम मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों को मनाने की कोशिश की। इस दौरान ग्रामीणों से उनकी कहासुनी भी हुई। ग्रामीणों का आरोप है कि एसडीएम ने वोट न करने पर रासुका लगाने और योजनाओं से वंचित करने की धमकी दी है। ग्रामीणों ने भाजपा के पक्ष में जबरन वोट का दबाव बनाने का आरोप भी लगाया।

 

विधानसभा चुनाव में भी नहीं किया था वोट

चित्रकूट जिले के भरतकूप क्षेत्र का गांव खपटिहा बांदा लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है। ग्रामीणों का कहना है कि इन सभी ने विधानसभा चुनाव के दौरान भी मतदान का बहिष्कार किया था। मांग थी कि गांव की बदहाल रोड को बनवाया जाए। तब जिलाधिकारी मोनिका रानी के आश्वासन पर ग्रामीणों ने वोट किया था। लेकिन रोड आज तक नहीं बन सकी है। इससे लोगों में प्रशासन व राजनेताओं के प्रति आक्रोश है। 

 

बहिष्कार की सूचना पर एसडीएम इंदु प्रकाश सिंह मौके पर पहुंचे और उन्होंने अधिसूचना खत्म होते ही रोड बनवाने का आश्वासन दिया। लेकिन ग्रामीण अपनी मांग पर अड़े रहे। ग्रामीणों का आरोप है कि, एसडीएम ग्रामीणों के साथ अभद्रता करते हुए गांव वालों के हाथ पैर तोड़ देने समेत रासुका जैसे संगीन अपराधिक मामलों में मुकदमा पंजीकृत कर जेल भेज देने की धमकी दी। 

 

ग्रामीणों ने बताया कि सदर एसडीएम ने सभी ग्रामीणों को धमकी दी, कहा कि अगर आप लोग वोट नहीं करेंगे तो आपके हाथ पैर तोड़ दिए जाएंगे और राशन कार्ड निरस्त कर दिए जाएंगे और रासुका जैसे संगीन अपराधिक मामले में जेल भेज दिया जाएगा। 

 

भड़का रहे थे कुछ लोग, कार्रवाई होगी

एसडीएम सदर इंदु प्रकाश सिंह ने कहा कि बहिष्कार की सूचना पर ग्रामीणों को वोट की महत्ता समझाने के लिए गांव गया था। वहां कुछ लोग ग्रामीणों को भड़का रहे थे। उन लोगों पर कार्रवाई करने की चेतावनी दी गई थी। ग्रामवासियों को तीन चार लोग हैं, जो वोट नहीं डालने दे रहे हैं। 

COMMENT