--Advertisement--

गंगा कावेरी एक्सप्रेस ट्रेन में डकैती, चलती ट्रेन को चेन पुलिंग करके आधा दर्जन बोगियों में बदमाशों ने किया लूटपाट

आधा दर्जन बोगियों में घुसकर असलहाधारी बदमाशो ने बंदूक की नोक पर की लूटपाट किया।

Danik Bhaskar | Sep 03, 2018, 02:09 PM IST

चित्रकूट/झांसी. चित्रकूट जिले के पन्हाई रेलवे स्टेशन के आउटर पर गंगा कावेरी एक्सप्रेस ट्रेन की आधा दर्जन बोगियों में बदमाशों ने  चेन पुलिंग  करके डाका डाल दिया। रविवार देर रात असलहाधारी बदमाशों ने बंदूक की नोक पर ट्रेन की छह बोगियों में लूटपाट किया। जिसमे चार यात्री गंभीर घायल हो गए। डकैती की सूचना पर जीआरपी-आरपीएफ और स्थानीय पुलिस के अधिकारी मौके पर पहुंचे। झांसी जीआरपी में एफआईआर दर्ज कर बदमाशों की तलाश के लिए पुलिस की 6 टीम लगाई गई हैं। 

 

जंगल में आउटर पर ट्रेन को हाईजैक करके हुई लूटपाट :  रविवार रात करीब 2 बजे ट्रेन पटना चेन्नई से होकर इलाहाबाद की ओर जा रही थी। गंगा कावेरी एक्सप्रेस को चलती ट्रेन को जंगल में चेन पुलिंग करके बदमाशो ने आउटर में हाईजैक करके रोक दिया। इसके बाद करीब दो घंटे तक लूटपाट करते रहे। आधा दर्जन बोगियों में घुसकर असलहाधारी बदमाशो ने बंदूक की नोक पर की लूटपाट किया। विरोध करने करने पर कई यात्रियों को बंदूक की बटो व चाकुओं से मारकर घायल कर दिया। घायलों को जिले के हॉस्पिटल में भर्ती करा दिया गया हैं।  गंगा कावेरी एक्सप्रेस ट्रेन का स्टॉपेज पन्हाई स्टेशन के पास नहीं था। इसके बावजूद ट्रेन को कैसे रोक दिया गया। 


जीआरपी पुलिस की भूमिका संदिग्ध : गंगा कावेरी ट्रेन चित्रकूट के पन्हाई स्टेशन से होते हुए इलाहाबाद की ओर जा रही थी। मानिकपुर के पास पन्हाई रेलवे स्टेशन के आउटटर पर ट्रेन में बदमाश लूटपाट करते रहें। स्थानीय लोगों का कहना हैं जीआरपी पुलिस और डायल 100 पर कई बार ट्रेन के यात्रियो ने फ़ोन किया उसके बाद भी पुलिस नहीं पहुंची। जीआरपी के पुलिस कर्मी सूचना मिलने के बाद भी समय से नहीं पहुंचे। जिसके बाद से उनकी भूमिका पर सवाल उठ रहे हैं। डीआईजी रेंज चित्रकूट मनोज तिवारी ने घटनास्थल का निरीक्षण करते हुए पुलिस  की अलग-अलग टीमों द्वारा बदमाशो की तलाश में सर्च ऑपरेशन चलाया गया।