झांसी / घाटे की भरपाई के लिए रेलवे ने निजी हाथों में सौंपा कैटरिंग का काम, मिलेगा शुद्ध-ताजा खाना



रेलवे प्रशासन ने निगरानी के साथ समय-समय पर टेस्टिंग का जिम्मेदारी खुद के हाथों में रखा है। रेलवे प्रशासन ने निगरानी के साथ समय-समय पर टेस्टिंग का जिम्मेदारी खुद के हाथों में रखा है।
X
रेलवे प्रशासन ने निगरानी के साथ समय-समय पर टेस्टिंग का जिम्मेदारी खुद के हाथों में रखा है।रेलवे प्रशासन ने निगरानी के साथ समय-समय पर टेस्टिंग का जिम्मेदारी खुद के हाथों में रखा है।

  • अभी तक रेलवे खुद कर रहा था इंतजाम
  • घाटे में चल रहा था कारोबार, टेंडर प्रक्रिया पूरी हुई

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2018, 02:45 PM IST

झांसी. यात्रियों को स्वादिष्ट व शुद्ध भोजन उपलब्ध कराने के लिए झांसी में रेलवे प्रशासन ने कैटिरंग का काम प्राईवेट कंपनी को दे दिया है। रेलवे स्टेशन परिसर में 10 स्टॉल बनाए जाएंगे। इसका संचालन दिसंबर माह से शुरू हो जाएगा। अभी तक रेलवे खुद भोजन की व्यवस्था कर रहा था।  


रेलवे रखेगा भोजन की गुणवत्ता पर नजर: झांसी रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म एक से पांच तक आठ स्टॉलों पर भोजन सामग्री की बिक्री होती है। तीन ट्रालियों के सहारे भी भोजन उपलब्ध कराया जाता है। लेकिन कुछ दिनों से कमाई इतनी घट गई कि कर्मियों का वेतन भी नहीं निकल पा रहा था। इसके चलते वाणिज्य विभाग ने कैटरिंग का काम निजी हाथों में सौपने का निर्णय लिया। रेलवे भोजन की गुणवत्ता की निगरानी करेगा। 

 

रेलवे उपलब्ध कराएगा जगह: 11 स्टॉलों के लिए 3 मई को टेंडर मांगे गए थे, इनमें आठ की प्रक्रिया लगभग पूरी कर ली गई है। इन्हें प्लेटफार्म नंबर 1, 2, 3, 4 व 5 में स्टॉल खोला जाएगा। ज्यादातर ट्रेनें एक व दो प्लेटफॉर्म से होकर गुजरती हैं। रेलवे ने इन फार्म संचालकों को स्टॉल खोलने के लिए जगह उपलब्ध कराएगा। 

 

अवैध वेंडरों का पनप रहा था नेटवर्क: झांसी रेलवे स्टेशन पर उचित भोजन की व्यवस्था ना होने पर अवैध वेंडरों का कारोबार पनप रहा था। इस पर अंकुश लगाने के लिए दीपावली से पहले एडीआरएम झांसी ने छापा मारकर नकली पानी और नकली पेठा सहित भारी मात्रा में खाद्य पदार्थ बरामद किया था। पांच आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई भी की गई थी।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना