गठबंधन पर उमा भारती का तंज; बोलीं- मायावती तक भिजवा दो मेरा नंबर, जरुरत पड़ेगी

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • उमा भारती ने सपा-बसपा गठबंधन पर बोला करारा हमला
  • कहा- अब ब्रह्मदत्त द्विवेदी नहीं, मायावती को पड़ेगी मेरी जरुरत

झांसी. केंद्रीय पेयजल व स्वच्छता मंत्री उमा भारती ने सपा-बसपा गठबंधन को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री मायावती पर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि उनके साथ गेस्ट हाउस जैसे कांड फिर से हो सकता है। मायावती को मेरा मोबाइल नंबर दे दिया जाए, ताकि उन पर जब हमला हो तो मैं बचाने आ सकूं( क्योंकि अब ब्रह्मदत्त द्विवेदी नहीं हैं। ऐसे में मुझे मायावती की बहुत चिंता है। उमा भारती ने बसपा सुप्रीमो को गेस्ट हाउस कांड न भूलने की नसीहत दी। 

 

शुक्रवार को झांसी पहुंची स्थानीय सांसद और केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा कि जो कांशीराम और मुलायम सिंह के समय गठबंधन हुआ था, वह काफी मजबूत था। उस गठबंधन का जो हाल हुआ था, वह इतिहास में दर्ज है। इस गठबंधन के बाद से वह काफी चिंतित हैं कि मायावती का उनके पास कभी भी फोन आ जाएगा, क्योंकि ब्रह्मदत्त द्विवेदी तो अब हैं नहीं। गेस्टहाउस कांड जो हुआ था, उसमें ब्रह्मदत्त द्विवेदी ने जान पर खेलकर मायावती की जान बचाई थी। मायावती का कहना था कि उनकी जान ही नहीं, बल्कि इज्जत भी खतरे में थी। आज उन्हीं के साथ वह हाथ मिलाए हुए हैं। इससे समझा जा सकता है कि हमसे कितना डर लग रहा है।


उमा भारती ने कहा कि भ्रष्टाचारियाों और अपराधियों का यह गठबंधन कितने दिन चल पाएगा, यह तो आने वाला समय ही बताएगा। उमा भारती ने मीडिया से कहा कि आप लोग तो मेरे घर के लोग हैं। मेरा नंबर मायावती के पास भिजवा दो। जैसे ही उन पर संकट आएगा, मैं उन्हें बचाने पहुंच जाऊंगी। वह दिन किसी भी समय आ सकता है। मुझे तो लगता यह समय टिकट वितरण के समय ही आ जाएगा। इसके साथ ही उमा भारती ने दावा करते हुए कहा कि गठबंधन के बाद भी यूपी में पूरी सीटों पर भाजपा को ही जीत मिलेगी।


वहीं, ओम प्रकाश राजभर के बयान पर उमा भारती ने कहा कि वे बहुत भोले आदमी हैं। राजभर समुदाय काफी भोला और मेहनती होता है। सुनील बसंल (भाजपा के संगठन मंत्री) सब संभाल लेंगे। लोकतंत्र में सभी को बोलने का अधिकार है। दरअसल, राजभर ने कहा था कि ओबीसी आरक्षण कोटे के वर्गीकरण की यदि उनकी शर्तें नहीं मानी गईं तो वह यूपी की सभी सीटों पर चुनाव लड़ेंगे।