कोंच तिहरा हत्याकांड / सीओ समेत 7 पुलिसकर्मियों को आजीवन कारावास; 1 आरोपी की हो चुकी है मौत



प्रतीकात्मक। प्रतीकात्मक।
X
प्रतीकात्मक।प्रतीकात्मक।

  • साल 2004 में एक विवाद में पैरवी के लिए कोतवाली पहुंचे सपा नेता समेत तीन लोगों की हुई थी हत्या
  • गुरुवार को जालौन के अपर सत्र न्यायाधीश ने आरोपियों पर दोष तय किए थे, शुक्रवार को सुनाया फैसला

Dainik Bhaskar

Nov 08, 2019, 03:27 PM IST

जालौन. 15 साल पहले कोंच कोतवाली में हुई सपा नेता समेत तीन लोगों की हत्या के मामले में शुक्रवार को अपर सत्र न्यायालय ने अपना फैसला सुनाया। अदालत ने वर्तमान में कानपुर के कर्नलगंज में तैनात सीओ भगवान सिंह समेत सात आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। अदालत ने गुरुवार को इन आरोपियों पर दोष सिद्ध किया था। जिसके बाद सभी को जेल भेज दिया गया था। आरोपियों में तत्कालीन कोतवाल देवदत्त सिंह राठौर की मौत हो चुकी है।

 

यह है पूरा मामला 
कोंच में एक फरवरी 2004 को दो पक्षों में हुए विवाद में पैरवी करने के लिए सपा नेता महेंद्र सिंह कोतवाली पहुंचे थे। आरोप है कि, तत्कालीन कोतवाल डीडी सिंह राठौर के नेतृत्व में पुलिस ने अंधाधुंध गोलियां चलाई थी। इस गोलीकांड में महेंद्र सिंह, उनके भाई सुरेंद्र सिंह और दयाशंकर झा की मौत हो गई थी। इस हत्याकांड की गूंज राजधानी तक पहुंची थी। घटना के बाद कोंच में कर्फ्यू भी लग गया था। गुस्साए लोगों ने तहसील थाने पर पथराव कर उसे आग के हवाले कर दिया था। शासन ने घटना का संज्ञान लेकर तत्कालीन पुलिस अधीक्षक आरके त्रिपाठी को निलंबित कर दिया था। मामले की सुनवाई के दौरान डीडी सिंह राठौर की जेल में ही मौत हो चुकी है।


गुरुवार को अपर सत्र न्यायाधीश प्रथम अमित प्रताप सिंह ने फैसला सुनाया था। उन्होंने कोंच कोतवाली में तत्कालीन पदस्थ उपनिरीक्षक भगवान सिंह वर्तमान सीओ, सेवानिवृत हो चुके दरोगा लालमणि गौतम सहित 8 लोगों को दोषी ठहराया गया है, जिसके बाद सभी आरोपियों को हिरासत में ले लिया और देर शाम कोर्ट के आदेश पर जेल भेज दिया गया था। अदालत के निर्णय पर परिजनों ने खुशी जताई है।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना