--Advertisement--

सभी को करना चाहिए कानून का पालन, जनता की सेवा करने से मिलता है सुख: आईपीएस चक्रेश मिश्रा

चक्रेश मिश्रा 2015 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं

Danik Bhaskar | Aug 03, 2018, 07:43 PM IST

लखनऊ. आम जनता की सेवा करना और उनकी मदद करने में सुखद अनुभूति मिलती है ये कहा है आईपीएस अधिकारी चक्रेश मिश्रा का। चक्रेश मिश्रा 2015 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं और वर्तमान में राजधानी लखनऊ के एएसपी- सीओ गोमती नगर में पदस्थ हैं। चक्रेश मिश्रा का मानना है कि पुलिस में पैसा कमाने की जगह यश कमाना चाहिए।

सभी को फॉलो करना चाहिए नियम: चक्रेश ने DainikBhaskar के संवाददाता आदित्य तिवारी से बातचीत में बताया कि यातायात के जो नियम बने हैं उसे सभी को फॉलो करना चाहिए। अगर किसी ने हेलमेट नहीं लगाया है अगर आपने उसका चालान कर दिया तो उसे वो उसे अपनी बेज्जती समझता है जबकि ये नियम है। लोगों को पुलिस कके काम में सहयोग करना चाहिए क्योंकि पुलिस जनता की सेवा के लिए ही होती है। कुछ लोग कानून का दुरुपयोग कर रहे हैं जिस कारण आम लोगों को कानून का सही लाभ नहीं मिल रहा है।

22 साल की उम्र में शुरू की तैयारी: चक्रेश मिश्रा ने 22 साल की उम्र में सिविल सर्विस की तैयारी शुरू कर दी थी। उनकी प्रारंभिक शिक्षा प्राइमरी स्कूल में हुई। वह मूलतः हरियाणा के ग़ुरुग्राम के रहने वाले हैं। हिंदी मीडियम से पढ़ाई करने वाले चक्रेश ने कन्नौज से 2002 में हाईस्कूल और बारहवीं 2004 में कानपुर से किया है। चक्रेश ने आईआईटी कॉलेज कानपुर से बीटेक और आईआईटी दिल्ली से एमटेक किया है। चक्रेश के पिता वीरेंद्र मिश्र मथुरा के एक कॉलेज से प्राचार्य पद से सेवानिवृत हैं जबकि मां एक गृहणी हैं। चक्रेश की पत्नी भी जज हैं। चक्रेश मिश्र इससे पहले रक्षा सम्पदा विभाग, आईआरएस मे भी सेवा दें चुके हैं।

स्वास्थ्य के प्रति विशेष ध्यान देना चाहिए: उन्होंने कहा कि सिविल सर्विसेज की तैयारी करने वाले व्यक्ति को अपने स्वास्थ्य के प्रति विशेष ध्यान देना चाहिए। अक्सर देखा जाता है तैयारी करने वाले 24 घण्टे में 15 से 18 घण्टे पढ़ाई करते हैं और उनको कई तरह की बीमारियां हो जाती हैं इसलिए टाइम टेबल बनाकर अध्ययन करना चाहिए जिससे उनका स्वास्थ्य भी फिट रहे। अपने से सीनियर और जूनियर से कम्युनिकेशन करना चाहिए जिससे व्यक्ति का मनोबल बढ़ता है। प्री और मेंस के पुराने पेपरों पर ध्यान देना चाहिए जिससे हमें अपने परीक्षाओं के प्रश्नों का आइडिया मिले।