Hindi News »Uttar Pradesh »Kanpur» 4 Arrested Including Woman In Bajrang Dal Leader Murder Case At Kanpur

अवैध संबंध में हुई थी बजरंग दल के पूर्व संयोजक की हत्या, एक मह‍िला सह‍ित 4 अरेस्ट

कानपुर: पुलिस ने बजरंज दल के पूर्व जिला संयोजक विजय यादव की हत्या का रव‍िवार को खुलासा कर दिया।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Nov 26, 2017, 09:04 PM IST

  • अवैध संबंध में हुई थी बजरंग दल के पूर्व संयोजक की हत्या, एक मह‍िला सह‍ित 4 अरेस्ट

    कानपुर. पुलिस ने बजरंज दल के पूर्व जिला संयोजक विजय यादव की हत्या का रव‍िवार को खुलासा कर दिया। पुलिस ने एक महिला सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा है कि विजय यादव की हत्या महिला पर नाजायज संबंध का दबाव बनाने की वजह से की गई। पीड़‍ित महिला ने फोन करके विजय को बुलाया था और उसकी हत्या के समय वह खुद मौजूद थी। पुलिस हत्याकांड में शामिल दो अन्य आरोप‍ियों की तलाश कर रही है। आगे पढ़‍िए पूरा मामला...

    -कानपुर के कल्याणपुर थाना क्षेत्र के रावतपुर गांव निवासी विजय यादव की 24 नबंवर की शाम करीब साढ़े 6 बजे चापड़ से काट कर निर्मम हत्या कर दी गई थी।

    -इस हत्याकांड में पुलिस ने पूनम झा उसके पति विनय झा के अलावा विनोद झा और सत्यम को चापड़, चाकू, पेचकश और महिला की खून से सनी साड़ी को बरामद किया है।

    -हत्या का खुलासा करते हुए एसएसपी अख‍िलेश मीणा ने बताया, महिला ने पुलिस को बयान दिया है कि विजय कुछ साल पहले उसके घर फर्नीचर के काम से सिलसिले में आया था। इस दौरान उसने उसका नंबर एक्सचेंज किया था

    -इसके बाद दोनों के बीच कई सालों तक फोन पर बातें होनी शुरू हो गई। जब महिला के पति ने इसका विरोध किया तो विजय ने उसे गोली मार दी थी जिसमें वह करीब 8 महीने तक जेल में भी बंद रहा था।

    -जेल से छूटने के बाद विजय ने कई बार पूनम से संपर्क साधने की कोशिश की, लेकिन उसने मुलाकात करने से इनकार कर दिया। फिर विजय ने पूनम की आईडी का एक नया नंबर और सेलफोन लिया और सेल्समैन लड़की के जरिये वह फोन उस तक पहुंचा दिया। दोनों के बीच फिर से बातें होनी शुरू हो गई।

    पुल‍िस की पूछताछ में मह‍िला ने बताई ये बात

    -महिला के अनुसार, विजय उसे धमकाता था कि‍ वह पति की कार में स्मैक, असलहा या फिर चरस रख दे, वह उसे जेल में बंद करा देगा। जब इस पर वह राजी नहीं हुई तो विजय ने उसके पति और पूरे परिवार को जहर देकर मार डालने की बात कह दी।

    -विजय की हरकतों से तंग आकर पूनम ने खुद जहर खा लिया। जब यह जानकारी परिवार को हुई तो परिजनों ने साजिश के तहत विजय को रास्ते से हटाने की साजिश रच डाली।

    -हत्या के दिन पूनम ने फोन कर विजय को अमार्पुर थाने के पीछे सुनसान रास्ते पर बुलाया। विजय अपनी कार से पहुंचा और वह स्कूटी से पहुंची। वहां पर पूनम के परिजन और गाजियाबाद से आए दो अन्य युवक भी मौजूद थे।

    -विजय पूनम से बात ही कर रहा था कि विनय ने पीछे से उसके सिर पर सरिया से हमला कर दिया, जिससे वह जमीन पर गिर गया। इसके बाद एक-एक कर सभी ने विजय को चाकू, चापड़ और पेंचकश से गोदना शुरू कर दिया।

    -विजय से आजिज हो चुकी पूनम ने भी उस पर चाकुओं से वार क‍िया। फिर वहां से सभी फरार हो गए। हत्याकांड के बाद अभियुक्त झाड़ियों में फेंककर भाग निकले। पुलिस फरार अभियुक्त अनूपम और उसके साथी की तलाश कर रही है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kanpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×