--Advertisement--

सौभाग्य योजना: सीएम योगी बांटेंगे बिजली कनेक्शन, 1 दिन में एक लाख कनेक्शन देने का लक्ष्य

उन्नाव के बीघापुर कस्बे में होने वाले सीएम योगी के कार्यक्रम में ई-संयोजन मोबाइल एप भी लांच किया जाएगा

Danik Bhaskar | Dec 17, 2017, 08:51 AM IST
उन्नाव के बीघापुर कस्बे में कार्यक्रम आयोजित किया गया। उन्नाव के बीघापुर कस्बे में कार्यक्रम आयोजित किया गया।

उन्नाव. प्रदेश में गांव से शहरों तक हर घर में बिजली पहुंचाने के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ रविवार को सौभाग्य योजना की शुरुआत कर दी है। इस कार्यक्रम में स्पीच देते हुए सीएम योगी ने कहा, "पीएम नरेन्द्र मोदी ने हर घर को सहज बिजली पहुंचाने के संकल्प को पूरा करने के लिए सौभाग्य योजना की शुरुआत की है। मुझे इस बात की खुशी है कि प्रदेश में मुफ्त बिजली कनेक्शन के तहत हमारी 21 लाख से ज्यादा बिजली कनेक्शन दे चुकी है। पहली बार प्रदेश में ऐसा हो रहा है कि जब किसी सरकार ने बिजली वितरण में हो रहे भेदभाव को खत्म कर दिया है।"

क्या है सौभाग्य योजना
-सौभाग्य योजना के तहत प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में करीब 1.54 करोड़ घरों को बिजली कनेक्शन दिए जाने का लक्ष्य सरकार ने तय किया है। इसी तरह शहरी क्षेत्रों में भी करीब 3.02 लाख परिवारों को कनेक्शन दिया जाएगा। सौभाग्य योजना के तहत गरीब परिवारों को बिजली कनेक्शन मुफ्त मिलेगा, जबकि सामान्य परिवारों को कनेक्शन के लिए 50 रुपये की 10 ईएमआई देकर ये कनेक्शन ले सकते हैं।


-योजना के लिए गरीब परिवारों की पहचान वर्ष 2011 की सामाजिक, आर्थिक और जातीय जनगणना के आधार पर की जाएगी। सभी कनेक्शन मीटर के साथ ही जारी किए जाएंगे। कनेक्शन जारी करने के काम में मोबाइल एप का इस्तेमाल किया जाएगा।


-इस योजना के तहत जारी होने वाली सभी बिजली कनेक्शन मीटर्ड होंगे। योजना में बिजली कनेक्शन कराने के लिए ग्रामीणों को अपना आधार कार्ड/ मतदाता पहचान पत्र/ ड्राइविंग लाइसेंस/ बैंक अकाउंट की एक कॉपी साथ ले जानी होगी। पर्सनल इफॉर्मेशन के वेरिफिकेशन के बाद बिजली कनेक्शन मिल पाएगा।

पूरे प्रदेश में एक दिन में एक लाख बिजली कनेक्शन बांटने का लक्ष्य रखा गया है। पूरे प्रदेश में एक दिन में एक लाख बिजली कनेक्शन बांटने का लक्ष्य रखा गया है।