--Advertisement--

'दीया तले अंधेरा' क्या होता है, देखना है तो आइए कभी राहुल गांधी की अमेठी के इस गांव

उत्तरप्रदेश का अमेठी जिला नेहरु-गांधी परिवार का गढ़ है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी यहां से तीसरी बार सांसद चुने गए थे।

Danik Bhaskar | Mar 05, 2018, 12:15 PM IST
लालटेन की रोशनी में पढ़ाई करते लालटेन की रोशनी में पढ़ाई करते

अमेठी(यूपी)। उत्तरप्रदेश का अमेठी जिला नेहरु-गांधी परिवार का गढ़ है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी यहां से तीसरी बार सांसद चुने गए थे। विकास के तमाम दावों के बीच यहां के एक गांव में आजादी के 70 साल बाद भी बिजली नहीं पहुंची है। यह गांव है पूरे हेम सिंह का पुरवा मजरे रेसी गांव।

-लोगों के मुताबिक, करीब 15 साल पहले गांव में बिजली के खंभे गाड़े गए थे, लेकिन बिजली फिर भी नहीं पहुंची।
-यहां के बच्चे आज भी लालटेन में पढ़ाई करते हैं। बाकी कामकाज भी लालटेन की रोशनी में ही होते हैं।
-यहां के कुछ घरों में शादी के दौरान मिलीं टीवी कबाड़ बनकर रखी हुई हैं।
-इस मामले में बिजली विभाग के सुपरिटेंडेंट एक्जीक्यूटिव इंजीनियर पीके ओझा तर्क देते हैं कि यह मामला अब मीडिया के जरिये ध्यान में आया है। उन्होंने दावा किया कि, दो महीने के अंदर गांव में बिजली पहुंचा दी जाएगी।