--Advertisement--

रिवाल्वर दादी बनी कानपुर मेयर, एक लाख 51 हजार वोटों से दर्ज की धमाकेदार जीत

बीजेपी की मेयर प्रत्याशी रिवाल्वर दादी उर्फ प्रमिला पाण्डेय ने 105134 वोटों से कांग्रेस प्रत्याशी वंदना मिश्रा को मात दी

Dainik Bhaskar

Dec 01, 2017, 10:19 PM IST
बीजेपी की मेयर प्रत्याशी प्रमिला पाण्डेय ने जीता मेयर पद का चुनाव। बीजेपी की मेयर प्रत्याशी प्रमिला पाण्डेय ने जीता मेयर पद का चुनाव।

कानपुर. कानपुर के मेयर पद पर एक बार फिर बीजेपी ने जीत के साथ हैट्रिक मारी है। बीजेपी की मेयर प्रत्याशी रिवाल्वर दादी उर्फ प्रमिला पाण्डेय ने 105134 वोटों से कांग्रेस प्रत्याशी वंदना मिश्रा को मात दी। प्रमिला पाण्डेय ने इसे कानपुर की जनता की जीत बताया हैं। वहीं, सपा की माया गुप्ता को 102474 वोट और बसपा की अर्चना निषाद को 82107 वोट मिले हैं। जनसभा के दौरान हुई थी निराश...


- प्रमिला पाण्डेय के सामने कांग्रेस प्रत्याशी बंदना मिश्रा से सीधे टक्कर थी। सबसे बड़ी बात यह थी की दोनों ही ब्राह्मण चेहरे थे, इसके बाद भी प्रमिला पाण्डेय ने 105134 वोटो से बंदना मिश्रा को मात दी है।
- चुनाव के दौरान मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने एक जनसभा भी थी, जिसमे भीड़ कम जुटी थी। इस बात को लेकर उनमे निराशा भी महसूस की थी। लेकिन इसके बावजूद उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और जबरदस्त तरीके से प्रचार किया।
- कानपुर में इससे पहले बीजेपी के रविन्द्र पाटनी मेयर थे, फिर जगतवीर सिंह ड्रोन मेयर रहे और अब प्रमिला पाण्डेय ने जीत कर हैट्रिक कायम रखी है।

प्रमिला पाण्डेय से जुड़ी अन्य बातें
- प्रमिला पाण्डेय मूल रूप से जौनपुर की रहने वाली है, लेकिन कानपुर उनकी कर्म भूमि रही है।
- प्रमिला पाण्डेय के पति रजिस्ट्रार ऑफिस में थे। वह लम्बे समय तक संघ से जुड़ी रही इसके बाद सिविल लाइन वार्ड 52 से 2 बार पार्षद के लिए चुनी जा चुकी हैं।
- वह महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष भी रह चुकी है। प्रमिला पाण्डेय जमीनी स्तर की नेता है, सभी कार्यकर्ता उनका सम्मान करते है। लोग उन्हें चाची ,युवा दादी और हम उम्र के कार्यकर्ता दीदी के नाम से पुकारते हैं।
- बताया जाता है कि जब विधानसभा चुनाव में मतगड़ना बीजेपी के पक्ष आई तो वह अकेले ही ढोल लेकर निकल पड़ी। इसके बाद उनके पीछे हजारों बीजेपी वर्करों की भीड़ निकल पड़ी। वहीं, कानपुर के सांसद मुरली मनोहर जोशी भी उनकी तारीफ कर चुके हैं, वह प्रमिला को छोटी बहन मानते हैं।
- एक्शन में रहने वाली बीजेपी कंडीडेट प्रमिला पाण्डेय अपने कामों की वजह से सुर्खियों में रहती है। कभी वह रिवाल्वर के साथ दिखती हैं, तो कभी मंदिरों के बाहर सांपो को दूध पिलाते हुए। इन्ही वजह से लोग उन्हें रिवाल्वर दादी के नाम से पुकारते हैं।

कांग्रेस प्रत्याशी वंदना मिश्रा को 105134 वोटों से मात दे दी। कांग्रेस प्रत्याशी वंदना मिश्रा को 105134 वोटों से मात दे दी।
सांप को पकड़कर अपने हाथ से दूध पिलाती प्रमिला पाण्डेय। सांप को पकड़कर अपने हाथ से दूध पिलाती प्रमिला पाण्डेय।
सिविल लाइन वार्ड 52 से 2 बार पार्षद के लिए चुनी जा चुकी हैं। सिविल लाइन वार्ड 52 से 2 बार पार्षद के लिए चुनी जा चुकी हैं।
बीजेपी की सभी रैलियों में अपनी स्कूटी पर 4 झंडे लगाकर सबसे आगे देखी जाती हैं प्रमिला। बीजेपी की सभी रैलियों में अपनी स्कूटी पर 4 झंडे लगाकर सबसे आगे देखी जाती हैं प्रमिला।
11 मार्च को विधानसभा चुनाव में बीजेपी की जीत पर ढोल लेकर निकल गईं थी प्रमिला। 11 मार्च को विधानसभा चुनाव में बीजेपी की जीत पर ढोल लेकर निकल गईं थी प्रमिला।
X
बीजेपी की मेयर प्रत्याशी प्रमिला पाण्डेय ने जीता मेयर पद का चुनाव।बीजेपी की मेयर प्रत्याशी प्रमिला पाण्डेय ने जीता मेयर पद का चुनाव।
कांग्रेस प्रत्याशी वंदना मिश्रा को 105134 वोटों से मात दे दी।कांग्रेस प्रत्याशी वंदना मिश्रा को 105134 वोटों से मात दे दी।
सांप को पकड़कर अपने हाथ से दूध पिलाती प्रमिला पाण्डेय।सांप को पकड़कर अपने हाथ से दूध पिलाती प्रमिला पाण्डेय।
सिविल लाइन वार्ड 52 से 2 बार पार्षद के लिए चुनी जा चुकी हैं।सिविल लाइन वार्ड 52 से 2 बार पार्षद के लिए चुनी जा चुकी हैं।
बीजेपी की सभी रैलियों में अपनी स्कूटी पर 4 झंडे लगाकर सबसे आगे देखी जाती हैं प्रमिला।बीजेपी की सभी रैलियों में अपनी स्कूटी पर 4 झंडे लगाकर सबसे आगे देखी जाती हैं प्रमिला।
11 मार्च को विधानसभा चुनाव में बीजेपी की जीत पर ढोल लेकर निकल गईं थी प्रमिला।11 मार्च को विधानसभा चुनाव में बीजेपी की जीत पर ढोल लेकर निकल गईं थी प्रमिला।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..