Hindi News »Uttar Pradesh »Kanpur» Man Not Get Ambulance For Treatment

जख्मी पति को यूं लाद-2Km तक पैदल चली पत्नी, कंधें पर सहारा देते रहे बच्चे

फतेहपुर में एक परिवार पिता को कंधे पर लादकर हॉस्पिटल पहुंचा।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 27, 2018, 05:31 PM IST

    • पीड़ित के बेटा राजू ने बताया- 102 एंबुलेंस को फोन किया, लेकिन मौके पर कोई नहीं पहुंचा। मजबूरन हमें ही चारपाई पर लेकर जाना पड़ा।

      फतेहपुर(यूपी).यहां शुक्रवार को एक फैमिली घायल शख्स को लादकर हॉस्पिटल पहुंची। कधों पर चारपाई को लादे करीब 2 किलोमीटर तक पैदल चलना पड़ा। 102 एम्बुलेंस को कॉल कर बुलाया गया, लेकिन वो नहीं पहुंची। इलाज कराने के बाद भी परिजनों को एम्बुलेंस नहीं उपलब्ध कराई गई। चारपाई पर ही लेकर वापस घर पहुंचे। आगे पढ़िए मामला...


      - मामला नेशनल हाईवे स्थित कल्याणपुर गांव का है। यहां गोला पासवान, पत्नी सियादुलारी, तीन बेटे राजू, कुलदीप व राजेश और तीन बेटियां मनू, बीनू व रेनू के साथ रहते हैं।
      - पीड़ित के बेटा राजू ने बताया, ''7 जनवरी को एक सड़क हादसे में पापा गोला पासवान घायल हुए। पैर पर गंभीर चोट आई थी।''
      - ''हॉस्पिटल ले जाने के लिए 102 एंबुलेंस को फोन किया, लेकिन मौके पर कोई नहीं पहुंचा। मजबूरन हम लोग पिता को चारपाई पर लिटाकर कंधे में लाद घर से निकल पड़े।''

      - ''करीब 2 किलोमीटर पैदल चलकर हॉस्पिटल पहुंचे। इलाज कारकर दोबारा चारपाई पर लादकर घर लाए।''

      - इसी बीच किसी शख्स ने इसका वीडियो मोबाइल पर रिकॉर्ड कर लिया, जो अब वायरल हो रहा है।


      क्या कहते हैं अधिकारी ?
      - स्वास्थ्य विभाग के पास मरीजों को एक कॉल पर अस्पताल पहुंचाने के लिए 54 इमरजेंसी वाहन मौजूद है। जिसमें 102 एबुंलेंस सेवा के 33, 108 एबुंलेंस सेवा के 21 वाहन और एएलएफ (इमरजेंसी लाइफ सपोर्ट) सेवा के दो वाहनों की फौज है।
      - चीफ मेडिकल ऑफिसर फतेहपुर डॉ. वीके पांडेय के मुताबिक, ''108 और 102 एम्बुलेंस की सेवाएं लखनऊ से संचालित है। अगर लापरवाही हुई है तो संबंधित एम्बुलेंस कर्मचारी के खिलाफ जांच कर एक्शन लिया जाएगा।

    • जख्मी पति को यूं लाद-2Km तक पैदल चली पत्नी, कंधें पर सहारा देते रहे बच्चे
      +2और स्लाइड देखें
      7 जनवरी को एक सड़क हादसे में युवक गोला पासवान घायल हुआ। पैर पर गंभीर चोट आई थी।
    • जख्मी पति को यूं लाद-2Km तक पैदल चली पत्नी, कंधें पर सहारा देते रहे बच्चे
      +2और स्लाइड देखें
      पीड़ित के बेटा राजू के मुताबिक- इलाज कराने के बाद भी एम्बुलेंस नहीं उपलब्ध कराई गई। चारपाई पर ही लेकर वापस घर पहुंचे।
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

    More From Kanpur

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×