--Advertisement--

नहीं भागा बंदर तो माथे के बीचो-बीच मार दी गोली, ऐसे तड़पता रहा बेजुबान

बंदर को गंभीर हालत में पशु चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है।

Danik Bhaskar | Jan 10, 2018, 04:32 PM IST
बंदर के माथे के बीचो-बीच एयर गन से गोली मारी गई। बंदर के माथे के बीचो-बीच एयर गन से गोली मारी गई।

कानपुर. एक ओर जहां शहर में बंदरों का आतंक लगातार बढ़ता जा रहा है, वहीं दूसरी ओर इंसानों द्वारा बंदरों पर हमला करने की वारदातें भी बढ़ती जा रही हैं। पेड़-पौधों की कमी की वजह से बंदर अपना पेट भरने के लिए अब इंसानी बस्तियों पर निर्भर हैं, लेकिन कुछ लोग इन बातों को नजरअंदाज कर बंदरों को अपनी क्रूरता का शिकार बना रहे हैं। एयर गन से मारी गोली...

बता दें कि मंगलवार को बाबूपुरवा इलाके के एक घर की छत पर खाने की तलाश करते हुए एक बंद आकर बैठ गया। इसके बाद घर के मालिक गोपाल गुप्ता ने उसे काफी भगाने की कोशिश की, जब वो नहीं भागा तो गोपाल ने बंदर पर एयर पिस्टल से गोली चला दी। ये गोली बंदर के माथे के बीचो-बीच लगी।

काफी देर तक तड़पता रहा बंदर

गोली लगते ही बंदर नीचे गिर पड़ा और काफी देर तक तड़पता रहा। इसके बाद कुछ लोगों ने बंदर को पास के पशु चिकित्सालय में भर्ती कराया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

पुलिस पर बनाया कार्रवाई का दबाव

वहीं, जब इसकी खबर 'सोसायटी फॉर प्रिवेन्शन ऑफ क्रुयलिटी अगेन्स्ट एनीमल्स' टीम को मिली तो उन्होंने पुलिस पर कार्रवाई करने का दबाव बनाया। इसके बाद पुलिस हरकत में आई और मामले की जांच में जुट गई।

मामले की जांच में जुटी पुलिस

कानपुर दक्षिण के एसपी अशोक कुमार के मुताबिक, गोपाल गुप्ता की पत्नी को बंदर काटने की कोशिश कर रहा था, जिसके बाद उन्होंने अपने एयर पिस्टल से बंदर को गोली मार दी। मामले की जांच की जा रही है।

गोली लगते ही छत से नीचे गिर पड़ा बंदर और काफी देर तक तड़पता रहा। गोली लगते ही छत से नीचे गिर पड़ा बंदर और काफी देर तक तड़पता रहा।
बंदर का पशु चिकित्सालय में इलाज चल रहा था, जहां उसकी मौत हो गई। बंदर का पशु चिकित्सालय में इलाज चल रहा था, जहां उसकी मौत हो गई।
'सोसायटी फॉर प्रिवेन्शन ऑफ क्रुयलिटी अगेन्स्ट एनीमल्स' टीम पुलिस पर कार्रवाई का दबाव बना रही है। 'सोसायटी फॉर प्रिवेन्शन ऑफ क्रुयलिटी अगेन्स्ट एनीमल्स' टीम पुलिस पर कार्रवाई का दबाव बना रही है।