कानपुर

--Advertisement--

ऐसे तैयार किया जा रहा जानलेवा मावा, रेड करने पहुंचे पुलिसवालों के उड़ गए होश

मिलावटी मावा और इसे बनाने में इस्तेमाल किए जाने वाले केमिकल, रिफाइंड और व्हाईट पाउडर बरामद जब्त किए।

Danik Bhaskar

Mar 01, 2018, 03:46 PM IST

कानपुर. होली जैसे बड़े त्योहार के मौके पर हर साल मिलावटखोरी का धंधा अपने चरम पर पहुंच जाता है। नकली और मिलावटी खाद्य सामग्री बाजारों में उतार कर मिलावटखोर लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ करते हैं। इसी पर लगाम कसने के लिए बुधवार को फूड डिपार्टमेंट और पुलिस की टीम ने संयुक्त रूप से छापेमारी कर बड़ी मात्रा में मिलावटी मावा और इसे बनाने में इस्तेमाल किए जाने वाले केमिकल, रिफाइंड और व्हाईट पाउडर बरामद जब्त किए। कई जिलों में होती है सप्लाई...

बता दें कि सचेंडी थाना क्षेत्र के पलरा गांव में स्थित इस फैक्ट्री में बनने वाला मावा आसपास के जिलों में सप्लाई किया जाता है। इससे मिलावटखोरों को अच्छा मुनाफा होता है। पुलिस ने आधा दर्जन लोगों को भी हिरासत में लिया है।

गुझिया में होता है मावा का इस्तेमाल

होली के त्योहार में मावा की खपत काफी ज्यादा होती है। गुझिया और मिठाई में इसका इस्तेमाल किया जाता है। इसको देखते हुए मिलावटखोर सक्रिय हो जाते हैं।

पुलिसवालों के उड़े होश

बुधवार को जब पुलिस की टीम फैक्ट्री में दाखिल हुई तो अंदर का नजारा देख कर पुलिस के भी होश उड़ गए। बड़ी-बड़ी भट्टियों पर कढ़ाई चढ़ी हुई थी। उन कढ़ाई में मावा बनाने का काम चल रहा था। पुलिस को देखकर वहां काम कर रहे कुछ कर्मचारी मौके से भाग निकले, लेकिन फैक्टी के मालिक का बेटा शिव करण साहू सहित कुछ कर्मचारी पकड़े गए।

इन चीजों से बनाया जा रहा था मावा

शिव करण साहू के मुताबिक, मिलावटी मावा बनाने के लिए सिंथेटिक दूध, सकरकंद, आलू, रिफाइंड, मिल्क पाउडर और केमिकल युक्त व्हाईट पाउडर का इतेमाल किया जाता था। पिछले एक हफ्ते से दिन रात काम करके मावा तैयार किया जा रहा था।

जांच के लिए भेजे सैंपल

खाद्य सुरक्षा अधिकारी ए के सिंह के मुताबिक, पुलिस की सुचना पर हमारी टीम यहां पहुंची। इस फैक्ट्री में बड़ी मात्रा में निर्मित खोया बनाने वाली सामग्री बरामद हुई है। खोया बनाने में जिस सामग्री का यूज किया जा रहा था वो बहुत ही हानिकारक है। खोया के सैम्पल जांच के लिए भेजा गया है।

गिरफ्तार लोगों से पूछताछ जारी

एसएसपी अखिलेश कुमार मीणा के मुताबिक, सूचना के आधार पर जब हम फैक्ट्री पहुंचे तो वहां पर मिलावटी मावा बनाने का काम चल रहा था। इस मावा में सिंथेटिक मिल्क, केमिकल का इस्तेमाल किया जा रहा था। इसमें आधा दर्जन लोग पकड़े गए हैं, अभी उनसे पूछताछ की जा रही है।

Click to listen..