--Advertisement--

छेड़छाड़ के आरोपी को छोड़ पीड़िता के परिजनों को भेजा जेल, बताई ये वजह

रविवार को पीड़िता न्याय की गुहार लगने एसएसपी ऑफिस, जहां उसे एसएसपी ने कार्रवाई के आश्वासन दिए है।

Danik Bhaskar | Dec 17, 2017, 02:30 PM IST
12 दिसंबर को पीड़िता के साथ आरोपी टिंकल ने अपने 2 दोस्तों के साथ मिलकर छेड़छाड़ की थी। 12 दिसंबर को पीड़िता के साथ आरोपी टिंकल ने अपने 2 दोस्तों के साथ मिलकर छेड़छाड़ की थी।

कन्नौज. यहां एक छात्रा से छेड़छाड़ कर रहे युवक को परिजनों न रंगे हाथ पकड़ लिया था। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी युवक को छोड़ दिया और छात्रा के परिजनों पर मारपीट का आरोप लगाकर जेल भेज दिया। वहीं, रविवार को पीड़िता न्याय की गुहार लगने एसएसपी ऑफिस, जहां उसे एसएसपी ने कार्रवाई के आश्वासन दिए है। आगे पढ़िए क्या है पूरा मामला...

- मामला जिले के थाना सौरिख क्षेत्र का है। यहां रहने वाले अशोक कुमार की नाबालिग बेटी कक्षा 11 की छात्रा है।
- 12 दिसंबर को पीड़िता अपनी बुआ के साथ इलाके के एक शादी समारोह में गई थी। वहां मौजूद टिंकल नाम के एक लड़के ने पीड़िता को बहलाकर अपने साथ एक सुनसान जगह पर ले गया। जहां पहले स मौजूद उसके 2 साथियों ने पीड़िता को दबोच लिया और उसका मुंह दबा लिया ताकि वह चिल्ला ना पाए।
- इसके बाद तीनों उसके साथ अश्लील हरकतें करने लगे और धमकी दी की अगर चिल्लाया तो जान से मार देंगे।
- वहीं, पीड़िता की तलाश करते-करते परिजन वहां पहुंच गए और उसको टिंकल के चंगुल में पाया। इसके बाद परिजनों ने आरोपी को पकड़कर पीटने लगे। पीटने के बाद उसको एक कमरें मे बंद कर दिया और पुलिस को इसकी सूचना दे दी।
- मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी को परिजनों से छुड़ाकर भगा दिया, जिससे पीड़िता के परिजनों की पुलिस से झड़प होने लगी।
- इसके बाद गुस्साई पुलिस ने उलटा परिजनों के ऊपर ही कार्यवाही कर दी और पीड़िता के चाचा संजू सहित दो लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। रविवार को पीड़िता अपने पिता के साथ एसएसपी से न्याय की गुहार लगाने पुहंची थी।

क्या कहते है एसएसपी
- एसएसपी केशव चन्द्र गोस्वामी का कहना है कि मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। अब तक की जांच में पाया गया है कि इनकी कोई पुरानी रंजिश भी चली आ रही है।

पुलिस ने आरोपी युवक को छोड़ दिया और छात्रा के परिजनों पर मारपीट का आरोप लगाकर जेल भेज दिया। पुलिस ने आरोपी युवक को छोड़ दिया और छात्रा के परिजनों पर मारपीट का आरोप लगाकर जेल भेज दिया।