--Advertisement--

होली में चढ़ा पॉलिटिक्स का रंग, कानपुर में भगवा गुलाल की बढ़ी डिमांड

दुकानदार का कहना है कि सभी लोग भगवा रंग की मांग कर रहे हैं।

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 04:25 PM IST
कानपुर के सबसे बड़ी रंग मंडी हटिया में भगवा अबीर ढूढ़ने से भी नहीं मिल रहा। कानपुर के सबसे बड़ी रंग मंडी हटिया में भगवा अबीर ढूढ़ने से भी नहीं मिल रहा।

कानपुर. 'देश में मोदी और प्रदेश में योगी' यह स्लोगन अब होली के रंगों में भी दिखाई दे रहा है। कानपुर के सबसे बड़ी रंग मंडी हटिया में भगवा अबीर ढूढ़ने से भी नहीं मिल रहा। भगवा अबीर की डिमांड इतनी ज्यादा हो गई है, शॉप मालिक इसकी भरपाई नहीं कर पा रहे हैं। प्रदेश में बीजेपी की सरकार आने के बाद लोगों पर जिस प्रकार भगवा गमछा का शौक चढ़ा था, कुछ उसी तरह अब भगवा अबीर का भी चलन शुरू हो चुका है। बताया जा रहा है कि बीजेपी कार्यकर्ता भगवा रंग के अबीर से गुलाल खेलने के मूड में हैं।

- बीते दो वर्षो में कानपुर शहर में बड़ी संख्या में बीजेपी के न्यू कंवर कार्यकर्ता बने हैं। जानकारी के मुताबिक बीजेपी वर्कर इस बार सिर्फ भगवा रंग से ही होली खेलेंगे।
- बीनू जायसवाल ने बताया कि योगी आदित्यनाथ हमारे पहले ऐसे मुख्यमंत्री हैं जिन्होंने बरसाने में होली खेली है। जब प्रदेश के मुखिया केसरिया रंग से होली खलेंगे तो प्रदेश के लोग क्यों नहीं खेलेंगे। पहली बार ऐसे मुख्यमंत्री हुए हैं जिन्होंने होली को इतना महत्त्व दिया है। पूर्व की सरकारों ने होली को इतना महत्त्व नहीं दिया था।

-वहीं, एक शॉप मालिक प्रकाश सिंह के मुताबिक लोगों का कहना है कि देश में मोदी प्रदेश में योगी इस लिए हम भगवा कलर से ही होली खेलेंगे। इसी वजह से सभी लोग भगवा रंग मांग रहे हैं।

- इस बार लखनऊ में 60 रुपये से लेकर 250 रुपये किलो तक के गुलाल मौजूद हैं। लेकिन जिस रंग के गुलाल और अबीर की ज्यादा डिमांड है वह भगवा ही है। एक ग्राहक कहते हैं होली की तैयारी शुरू हो गई है। इस बार यूपी में योगी सरकार है, लिहाजा उनके पसंदीदा रंग भगवा से ही होली खेली जाएगी।