--Advertisement--

जब SP ने कोतवाली में बुलाकर स्कूली बच्चों की ऐसे लगाई क्लास

एसपी ने खुद बच्चों को कोतवाली बुलाकर पुलिस की कार्यप्रणाली के बारे में जानकारी दी।

Danik Bhaskar | Dec 19, 2017, 07:53 PM IST
एसपी ईस्ट अनुराग आर्या ने की नई पहल। एसपी ईस्ट अनुराग आर्या ने की नई पहल।

कानपुर. आमतौर पर थानों में पुलिसवाले, अपराधी या फरियादी ही दिखाई देते हैं। लेकिन, यहां के कोतवाली में सोमवार को एक अलग ही नजारा देखने को मिला। जहां, स्कूली ड्रेस में बच्चों का एक ग्रुप पुलिस की कार्य प्रणाली के बारे में जानकारी लेते दिखा। इतना ही नहीं बच्चों को खुद एसपी साहब ही गाइड कर रहे थे। SP ने की नई पहल...

अक्सर देखा जाता है कि पुलिस का नाम सुनते ही लोगों के चेहरे के हाव-भाव बदल जाते हैं। बच्चे तो बच्चे, बड़े-बुजुर्ग भी पुलिस से दूरी बनाए रखना ही पसंद करते हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए एसपी ईस्ट अनुराग आर्या ने एक नई पहल की है, जिसके तहत स्कूली बच्चों को थानों में बुलाकर पुलिस की कार्य प्रणाली से अवगत कराया जा रहा है।

कोतवाली में बुलाया

इसी के तहत कानपुर के बड़े चौराहा स्तिथ कोतवाली में स्कूली बच्चों को पुलिस की कार्य व्यवस्था के बारे में जानकारी दी गई।

'डर खत्म हो गया'

कोतवाली आई छात्रा श्रुति अग्रवाल ने बताया कि यहां पहली बार किसी थाने में आई हूं और यहां आकर काफी कुछ सीखने को मिला और बहुत कुछ पता चला। पहले पुलिस के नाम से घबराहट होती थी मगर अब ये डर खत्म हो गया।

ये है मकसद

एसपी ईस्ट अनुराग आर्या ने बताया कि इस पहल का मुख्य उद्देश्य है कि पुलिस के बारे में इन बच्चों को बेसिक जानकारी हो। किस पुलिसवाले की क्या रैंक होती है, थाने में किस तरह काम होता है और किस काम के लिए किसके पास जाना चाहिए। साथ ही बच्चों के बीच पुलिसवालों के लिए जो भय का माहोल है, हमारा मकसद उसे भी दूर करना है। इसलिए सरकारी और प्राइवेट स्कूलों के बच्चों को बुलाकर ये जानकारी दी जा रही है।

स्कूली बच्चों को पुलिस की कार्यप्रणाली के बारे में दी जानकारी। स्कूली बच्चों को पुलिस की कार्यप्रणाली के बारे में दी जानकारी।
छात्राओं ने कहा- इस क्लास के बाद डर दूर हो गया। छात्राओं ने कहा- इस क्लास के बाद डर दूर हो गया।
इस क्लास का मकसद बच्चों के बीच भय के माहोल को गायब करना है- एसपी इस क्लास का मकसद बच्चों के बीच भय के माहोल को गायब करना है- एसपी