Hindi News »Uttar Pradesh »Kanpur» Special Lieutenant Srikant Story In Kanpur

Exam से 2 दिन पहले हुआ था पापा का मर्डर, उनका सपना पूरा करने यहां पहुंचा बेटा

कानपुर के लेफ्टिनेंट श्रीकान्त ट्रेनिंग के बाद ज्वाइनिंग लेटर लेकर पहली बार घर आए है।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Dec 26, 2017, 10:15 AM IST

    • कानपुर के लेफ्टिनेंट श्रीकान्त के पापा का मर्डर हो गया था।

      कानपुर (यूपी).यहां लेफ्टिनेंट श्रीकान्त मिश्रा जब हाईस्कूल में थे और उनकी 10वीं की परीक्षा के ठीक 2 दिन पहले पिता की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। इसके बाद भी उसने एग्जाम दिया और 92 प्रतिशत नंबर आए थे। आज इंडियन आर्मी में जाने की जिद ने उसे कर्नल बना दिया। श्रीकान्त ट्रेनिंग के बाद ज्वाइनिंग लेटर लेकर पहली बार घर आए है।

      2011 में हुआ था पापा का मर्डर...

      - बर्रा थाना क्षेत्र के बर्रा आठ में रहने वाली गीता देवी के पति मनोज मिश्रा की 7 मार्च 2011 को गोली मार दी गई थी। मनोज कानपुर देहात में एक प्राइमरी स्कूल में टीचर थे। इनके परिवार में बेटा श्रीकांत और बेटी नयन है।
      - गीता ने बताया, ''7 मार्च 2011 को पति की गोली मार दी गई थी। 9 मार्च से बेटे 10वीं की परीक्षा थी, मैंने उसके चेहरे को देखा था, जिसमें पिता को खोने का गम और इस छोटी उम्र में हत्या के बाद खौफ भी था।''
      - ''बेटे ने पूरा पेपर दिया, जब रिजल्ट आया तो उसके 92 प्रतिशत नंबर थे। पति चाहते थे बेटा आर्मी ज्वाइन करे, इसके लिए मैं उसको प्रेरित करती रही।

      450 लोगों के बीच से चुना गया
      - श्रीकांत ने बताया, ''पापा के मर्डर के बाद मैं और पूरा परिवार टूट गया था। मैंने हाईस्कूल(92) और इंटर (93) परसेंट से पास हुआ। पापा के दोस्त इंद्र कुमार एयर फ़ोर्स में विंग कमांडर के पद पर तैनात है।''
      - ''उनके बताने पर मैंने टी.ई.एस (टेक्नीकल एंट्री स्कीम) का इंटरव्यू दिया था। इसमें रैंकिंग को देखकर सिलेक्शन होता है, 2013 में टीईएस की रैंक 85 फीसदी थी। जिसमें मुझे इस परीक्षा में बैठने का मौका मिल गया।''
      - ''इस परीक्षा को लाखों लोगों ने दिया था, जिसमें 450 लड़कों का सिलेक्शन हुआ था। जिसमें कई प्रॉसेस से होकर मात्र 6 लड़कों को चुना गया। इसके बाद एक साल की ट्रेनिंग हुई फिर सिविल इंजीनियरिंग से 4 साल का बीटेक बोधगया में किया। अभी 22 दिसंबर 2017 को ज्वाइनिंग लेटर मिला है।''
      - ''मुझे इस बात की खुशी है कि मैंने अपने पिता का सपना पूरा किया है। यदि वह आज होते तो बहुत खुश होते, उनकी कमी को पूरा तो नहीं किया जा सकता है लेकिन उनके सपने को साकार करने का मैं पूरा प्रयास कर रहा हूं।''

    • Exam से 2 दिन पहले हुआ था पापा का मर्डर, उनका सपना पूरा करने यहां पहुंचा बेटा
      +4और स्लाइड देखें
      लेफ्टिनेंट श्रीकान्त के घर में मां गीता और बहन नयन हैं।
    • Exam से 2 दिन पहले हुआ था पापा का मर्डर, उनका सपना पूरा करने यहां पहुंचा बेटा
      +4और स्लाइड देखें
      गीता ने बताया, पति का मर्डर होने के बाद भी बेटा अच्छे नंबर से पास हुआ।
    • Exam से 2 दिन पहले हुआ था पापा का मर्डर, उनका सपना पूरा करने यहां पहुंचा बेटा
      +4और स्लाइड देखें
      लेफ्टिनेंट श्रीकान्त के पापा का सपना था कि बेटा इंड‍ियन आर्मी ज्वांइन करे।
    • Exam से 2 दिन पहले हुआ था पापा का मर्डर, उनका सपना पूरा करने यहां पहुंचा बेटा
      +4और स्लाइड देखें
      श्रीकान्त ने बताया कि 450 लोगों में हुआ था सेलेक्शन।
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Kanpur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
    Web Title: Special Lieutenant Srikant Story In Kanpur
    (News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    More From Kanpur

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×