Hindi News »Uttar Pradesh »Kanpur» Women Do Funeral In Kanpur

महिलाओं ने ऐसे दिया लावारिस अर्थी को कंधा, लोग बोले- आखि‍र ऐसा क्यों ?

कानपुर में पांच दिवसीय लावारिस लाशों को कंधा देने का कार्यक्रम पोस्टमॉर्टम हाउस में किया जा रहा था।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 09, 2018, 07:26 PM IST

    • कानपुर. यूपी के कानपुर में पोस्टमॉर्टम हाउस में उस समय लोगों की भीड़ जुट गई, जब महिलाएं लावारिस लाशों को कंधे देने लगीं। ये मंजर देख लोग जहां के तहां रुक गए। सभी के मन में बस एक सवाल था कि आखिर ये अर्थी किसकी है और महिलाएं क्यों कंधा दे रही हैं? लाशों पर की गई फूलों की वर्षा...


      - बता दें, समाज कल्याण सेवा समिति भारतीय दलित पैंथर दवारा पांच दिवसीय लावारिस लाशों को कंधा देने का कार्यक्रम पोस्टमॉर्टम हाउस में किया जा रहा था।
      - इसी कार्यक्रम के तहत मंगलवार को पोस्टमॉर्टम हाउस में लावारिस लाशों को समिति की महिलाओं ने कंधा दिया। इस दौरान दो लावारिश लाशों को दो दर्जन से ज्यादा महिलाओं ने कंधा देकर समाज को जागरूक करने का काम किया।
      - इस दौरान लावारिश लाशों पर फूलों की वर्षा भी की गई।
      - ये देख उधर से गुजरने वाले लोग वहीं रुक गए। सभी के मन में बस एक सवाल था कि आखिर ये अर्थी किसकी है और महिलाएं क्यों कंधा दे रही हैं।
      - जब लोगों को इसकी जानकारी हुई की ये लावारिस लाशें हैं, तो लोग महिलाओं के जज्बे और हौंसले को सलाम करने लगे।

      महिलाएं नहीं हैं किसी से कम
      - कंधा देने वाली सीमा संखवार महिला ने बताया, ''जिनका कोई नहीं होता, उनका खुदा होता है। इसी कहावत को हम लोग सच कर रहे हैं। हमारी संस्था द्वारा 'लावरिस को वारिस' कार्यक्रम किया जा रहा है। इसमें हम महिलाओं ने लावारिस लाशों के अंतिम संस्कार के लिए पोस्टमॉर्टम हाउस से उन्हें भैरव घाट तक कंधा दिया।''
      - समिति के अध्यक्ष धनीराम ने बताया, ''हम लोग 9 साल से लावारिश लाशों का अंतिम संस्कार कर रहे हैं। जिसको लेकर आज भी ये काम किया गया। हम लोगों की संस्था ने मंगलवार को दो लावारिस लाशों का अंतिम संस्कार किया। जिसे महिलाओ ने कंधा देकर समाज को आइना दिखाने का काम किया है कि आज के युग में महिलाएं किसी से काम नहीं हैं।''

    • महिलाओं ने ऐसे दिया लावारिस अर्थी को कंधा, लोग बोले- आखि‍र ऐसा क्यों ?
      +3और स्लाइड देखें
    • महिलाओं ने ऐसे दिया लावारिस अर्थी को कंधा, लोग बोले- आखि‍र ऐसा क्यों ?
      +3और स्लाइड देखें
    • महिलाओं ने ऐसे दिया लावारिस अर्थी को कंधा, लोग बोले- आखि‍र ऐसा क्यों ?
      +3और स्लाइड देखें
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Kanpur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
    Web Title: Women Do Funeral In Kanpur
    (News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    More From Kanpur

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×