पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

धमाकेदार आगाज हुआ अंतराग्नि 17, कैम्पस का कुछ ऐसा था नजारा

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कानपुर. आईआईटी कानपुर में गुरूवार की देर शाम सालाना कल्चरल फेस्ट अंतराग्नि 17 का आगाज पूरे धूम धड़ाके के साथ हुआ। देर शाम दुनिया के मशहूर डीजे मैन कश्मर अपने संगीत के जादू से आईआईटीएन को झूमने पर मजबूर कर दिया। इस सालाना फेस्ट को लेकर कानपुर आईआईटी के एक हिस्से को दुल्हन की तरह सजाया गया था।
  
जमकर झूमे आईआईटीएन...
 
- गुरूवार को देर शाम आईआईटी कानपुर में जेएसएल नेशनल सेल्स हेड राजीव गर्ग ने आईआईटी डायरेक्टर इंद्रनील मन्ना के साथ दीप प्रज्जवलित करके किया। 
- राजिव गर्ग ने कहा उनकी कंपनी पिछले 27 साल से अंतराग्नि के स्पोंसर्ड कर रहा है।
- अंतराग्नि में आये प्रतिभागीयो और यहाँ के छात्रों को जिस घडी का इंतज़ार था वो आ ही गया। 
- अश्मर की इंट्री स्टेज पर होते ही छात्र झूम उठे। जैसे जैसे रात होती गयी डीजे का रंग छात्रों पर चढने लगा। 
 
जानिए कौन है कश्मर
 
- कश्मर का असली नाम नील्स होल्लोवेल्ल धर है, जिन्हें लोग प्यार से कश्मर बुलाते है। कश्मर का मतलब कश्मीर से है। 6 अक्टूबर 1988 कैलिफोर्निया में जन्में कश्मर का डीजे बैंड इंडियन-अमेरिकन डीजे के  नाम से जाना जाता है। 
- साल 2015 में टॉप 100 डीजे में इनके डीजे का स्थान 23 वां था, जिसमे इनको " द हाईएस्ट न्यू एंट्री" अवार्ड भी मिल चुका है।
- ऐसा माना जाता है कि इनके पिता भारतीय मूल के है। जानकारों की माने तो होल्लोवेल्ल धर ने कश्मर नाम तब रखा जब उन्होंने जम्मू एन्ड कश्मीर में स्टेज परफॉर्म "पैराडाइस ऑन अर्थ " किया था।
- कश्मर ने साल 2014 में डीजे की शुरुवात की थी। इन्होने अपना पहला शो मेगलोण्डों 24 फरवरी 2014 में किया था। इसके बाद इन्होने एक के बाद एक कई स्टेज शो कर चुके है।
खबरें और भी हैं...